बैंक की गलती से खाते में आए 5.5 लाख रुपए, युवक बोला- क्यों लौटाऊं, मोदी जी ने भिजवाया है

बिहार के खगड़िया जिले का मामला, शख्स ने पीएम मोदी के 15 लाख की पहली किस्त समझकर खर्च कर दिया, नहीं लौटाने पर पुलिस ने किया गिरफ्तार

Updated: Sep 17, 2021, 09:53 AM IST

बैंक की गलती से खाते में आए 5.5 लाख रुपए, युवक बोला- क्यों लौटाऊं, मोदी जी ने भिजवाया है

खगड़िया। बिहार के खगड़िया जिले से एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। यहां एक ग्रामीण के बैंक खाते में गलती से साढ़े पांच लाख रुपए आ गए। शख्स ने इसे पीएम मोदी के 15 लाख रुपए की पहली किस्त समझकर खर्च कर दिया। जब बैंक वाले पैसे मांगने लगे तो शख्स ने लौटाने से साफ इनकार कर दिया। बैंक की शिकायत पर पुलिस ने युवक को गिरफ्तार कर लिया है।

मामला खगड़िया के मानसी ब्लॉक के बख्तियारपुर गांव का है। ग्रामीण बैंक में रंजीत दास नाम के युवक ने खाता खुलवाया था। बैंक की गलती से युवक के खाते में साढ़े पांच लाख रुपए ट्रांसफर हो गए। खाताधारक रंजीत दास खाते में इतने रुपए देखकर बेहद प्रसन्न हो गया। कमाल की बात ये है कि उसने इसे केंद्र सरकार द्वारा मिली सहायता समझकर खर्च भी कर दिया।

इस मामले में जबरदस्त ट्विस्ट तब आया जब बैंक को गलती का एहसास हुआ। बैंक ने खाताधारक रंजीत दास को नोटिस भेजकर पैसे वापस मांगे। इसपर रंजीत दास ने ये कहते हुए पैसे लौटाने से इनकार कर दिया कि ये पैसे तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भिजवाया है। रंजीत ने जब बताया कि सरकारी मदद समझकर उसने रुपए खर्च कर दिए तो बैंककर्मियों के होश उड़ गए। आखिरकार बैंक ने युवक के खिलाफ FIR की और पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

यह भी पढ़ें: भारत में हर दिन औसतन 77 महिलाओं के साथ हुआ बलात्कार: NCRB रिपोर्ट

रंजीत दास ने स्थानीय मीडियाकर्मियों से कहा, 'जब इस साल मार्च में मेरे अकाउंट में पैसे आए तो मैं बहुत खुश था। मैंने सोचा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हर बैंक खाते में 15 लाख रुपये जमा करने का वादा किया था। वादे के मुताबिक उन्होंने 5.5 लाख रुपए की पहली किस्त भिजवाया होगा। ये सोचकर मैंने सारा पैसा खर्च कर दिया। अब बाकी के 9.5 लाख देने की बजाए बैंक वाले पुराने पैसे वापस वाले मांग रहे हैं। मैं कहां से दूं? मैने तो सारा खर्च कर दिया।' मामले में मानसी के थाना प्रभारी दीपक कुमार ने कहा कि रंजीत को गिरफ्तार कर लिया गया है। शुरुआती जांच में पता चला है कि उसने पैसे खर्च कर दिए हैं।