कंगना के बयान पर भड़के BJP सांसद वरुण गांधी, बोले- इस सोच को पागलपन कहूँ या देशद्रोह

पद्मश्री पाने के बाद कंगना ने एक बार फिर उगला जहर, 1947 में मिली आजादी को बताया भीख, कांग्रेस MLA ने कहा- भीख में तुम्हें पद्मश्री मिली होगी

Updated: Nov 11, 2021, 03:12 PM IST

कंगना के बयान पर भड़के BJP सांसद वरुण गांधी, बोले- इस सोच को पागलपन कहूँ या देशद्रोह

नई दिल्ली/मुंबई। बॉलीवुड की बड़बोली अभिनेत्री कंगना रनौत ने पद्मश्री मिलने के बाद एक बार फिर जहर उगला है। कंगना ने कहा है कि सन 1947 में भारत को आजादी नहीं बल्कि भीख मिली है। कंगना के इस बयान ने देशवासियों को आक्रोशित कर दिया है। मोदी सरकार की अंधभक्ति में कंगना द्वारा दिए गए इस बयान पर खुद बीजेपी नेताओं का भी गुस्सा फूट पड़ा है। पीलीभीत से बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने कहा है कि इस सोच को पागलपन कहूँ या देशद्रोह?

वरुण गांधी ने ट्वीट किया, 'कभी महात्मा गांधी जी के त्याग और तपस्या का अपमान, कभी उनके हत्यारे का सम्मान, और अब शहीद मंगल पाण्डेय से लेकर रानी लक्ष्मीबाई, भगत सिंह, चंद्रशेखर आज़ाद, नेताजी सुभाष चंद्र बोस और लाखों स्वतंत्रता सेनानियों की कुर्बानियों का तिरस्कार। इस सोच को मैं पागलपन कहूँ या फिर देशद्रोह?' 

कंगना के इस बयान को सोशल मीडिया यूजर्स आजादी के आंदोलन में अपना बलिदान देने वाले तमाम स्वतंत्रता सेनानियों का अपमान करार दे रहे हैं।मध्य प्रदेश के कांग्रेस विधायक कुणाल चौधरी ने कहा है की, 'कंगना! भीख में तुम्हें पद्मश्री मिला होगा। आजादी तो लहू के फुहारों से मिली थी।'

दरअसल, कंगना रनौत ने पद्मश्री मिलने के बाद एक टीवी चैनल को इंटरव्यू दिया था। इस इंटरव्यू का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। इसमें कंगना कह रही हैं कि 1947 में इस देश को आजादी नहीं बल्कि भीख मिली थी। असली आज़ादी 2014 में मिली है। यानी केंद्र में मोदी सरकार आने के बाद ही इस देश को आजादी को मिली है।