बंगाल में बीजेपी ने दहाई का आंकड़ा पार किया तो छोड़ दूंगा काम, ममता के रणनीतिकार प्रशांत किशोर का दावा

बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने कहा, देश में एक चुनावी रणनीतिकार कम हो जाएगा, प्रशांत किशोर के कामकाज से ममता बनर्जी के नाराज़ होने की ख़बरें भी आ रही हैं

Updated: Dec 21, 2020, 09:40 PM IST

बंगाल में बीजेपी ने दहाई का आंकड़ा पार किया तो छोड़ दूंगा काम, ममता के रणनीतिकार प्रशांत किशोर का दावा
Photo Courtesy : The Economic Times

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में अगले साल होने वाले चुनाव के लिए तेज़ होती सियासी सरगर्मी के बीच ममता बनर्जी के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने बड़ा दावा किया है। उन्होंने का कहना है कि राज्य के विधानसभा चुनाव में बीजेपी दहाई का आंकड़ा भी पार नहीं कर पाएगी। प्रशांत किशोर ने चुनौती भरे अंदाज़ में कहा है कि अगर बीजेपी ने दहाई का आंकड़ा पार लिया, तो वे अपना काम छोड़ देंगे। 

इस ट्वीट को सेव कर के रख लें : प्रशांत किशोर 
प्रशांत किशोर ने पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की सत्ता में वापसी का दावा करते हुए कहा है कि बीजेपी को आगामी चुनावों में मुंह की खानी पड़ेगी। प्रशांत किशोर ने ट्विटर पर लिखा, मीडिया का एक बड़ा वर्ग बीजेपी के पक्ष में माहौल बनाने की कोशिश कर रहा है। जबकि हकीकत यह है कि पश्चिम बंगाल चुनाव में बीजेपी को डबल डिजिट यानी दहाई का आंकड़ा पार करने के लिए भी संघर्ष करना पड़ेगा। प्रशांत किशोर यहीं नहीं रुके, उन्होंने चुनौती भरे अंदाज़ में लिखा, 'इस ट्वीट को सेव कर के रख लें और अगर बीजेपी का प्रदर्शन मेरे अनुमान से बेहतर रहा, तो मैं ये काम छोड़ दूंगा!

देश को खोना पड़ेगा एक चुनावी रणनीतिकार : कैलाश विजयवर्गीय 

प्रशांत किशोर के इस दावे के बाद बीजेपी के खेमें में हलचल मच गई। बीजेपी के बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने मोर्चा संभालते हुए कहा कि जल्द ही देश को एक चुनावी रणनीतिकार खोना पड़ेगा। बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने प्रशांत किशोर के काम छोड़ने वाले कथन पर तंज कसते हुए कहा कि बीजेपी की बंगाल में जो सुनामी चल रही है, उस लिहाज से बंगाल में बीजेपी की सरकार बनने के बाद देश को चुनावी रणनीतिकार खोना पड़ेगा। 

प्रशांत किशोर से नाराज़ चल रही हैं ममता 
इस बीच, कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष ममता बनर्जी अपने चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर से खासी नाराज़ चल रही हैं। ममता की नाराज़गी के पीछे पार्टी से एक के बाद एक नेताओं की विदाई को कारण माना जा रहा है। 

यह भी पढ़ें : अमित शाह के सम्मान में गाते रहे लोक गायक, कैमरे पर लगा रहा गृह मंत्री का सारा ध्यान 

दरअसल बीते दिनों शुभेंदु अधिकारी, सुनील मंडल, जितेंद्र तिवारी और शीलभद्र दत्ता समेत कई नेता टीएमसी छोड़कर चले गए हैं। अधिकारी और सुनील मंडल तो बीजेपी की सदस्यता भी ले चुके हैं। शीलभद्र दत्ता के टीएमसी छोड़ने के लिए तो प्रशांत किशोर और उनकी टीम के रवैए से नाराज़गी को ही मुख्य वजह बताया जा रहा है। बताया जा रहा है कि इन्हीं कारणों से ममता बनर्जी प्रशांत किशोर से काफी नाराज़ चल रही हैं। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो ममता बनर्जी ने प्रशांत किशोर को अल्टीमेटम तक दे दिया है कि अगर ऐसा ही चलता रहा उन्हें कुछ और फैसला करना पड़ेगा।