महाराष्ट्र के बीड में एक एंबुलेंस में ठूंसकर रखे 22 कोरोना मरीजों के शव, श्मशान में एक चिता पर 3-3 शवों का हुआ अंतिम संस्कार

महाराष्ट्र के बीड जिले के अंबाजोगाई में स्वामी रामानंद तीर्थ अस्पताल में कोरोना से मरने वाले 22 मरीजों के शव रविवार को एक ही एम्बुलेंस में लादकर कब्रिस्तान में ले जाया गया

Updated: Apr 27, 2021, 08:30 PM IST

महाराष्ट्र के बीड में एक एंबुलेंस में ठूंसकर रखे 22 कोरोना मरीजों के शव, श्मशान में एक चिता पर 3-3 शवों का हुआ अंतिम संस्कार
Photo courtesy: bhaskar

मुंबई। कोरोना महामारी से देश भर में तबाही मची हुई है। ऑक्सीजन और दवाइयों के आभाव से बड़ी संख्या में मरीज़ अस्पतालों में दम तोड़ रहे हैं। महाराष्ट्र के बीड जिले में कोरोना मरीजों के शव के साथ अमानवीयता की घटना सामने आई है। यहां एक एम्बुलेंस में 22 शवों को एक दूसरे के ऊपर रखकर शमशान लाया जा रहा था। और एक चिता पर रखकर 2 से 3 लाशों का अंतिम संस्कार किया जा रहा है। घटना की तस्वीरें सामने आने के बाद जिले में हड़कंप मच गया। जिला प्रशासन ने जांच के आदेश दिए हैं। 

घटना महाराष्ट्र के बीड जिले के अंबाजोगाई अस्पताल का है। अंबाजोगाई स्वामी रामानंद तीर्थ अस्पताल में रविवार रात तक कोरोना से 30 मरीजों की मौत हुई थी। इनमें से 22 शवों को एक ही एम्बुलेंस में शमशान लाया गया, बाकी के 8 शव दूसरी एंबुलेंस में लाए। इस घटना के बाद स्थानीय लोगों ने हॉस्पिटल के खिलाफ नाराजगी व्यक्त की है।

इस घटना के बाद अस्पताल ने सफाई दी है। उन्होंने कहा कि उनके पास दो ही एंबुलेंस हैं। पांच एंबुलेंस की और मांग की गई है। 17 मार्च को प्रशासन को पत्र लिखा जा चुका है, लेकिन अभी तक एम्बुलेंस नहीं मिली हैं।

गौरतलब है कि मरीजों की संख्या अचानक बढ़ने से अंबाजोगाई तालुका में स्थिति गंभीर है। यहां के स्वाराती अस्पताल पूरी तरह भर गया है। इसके अलावा यहां स्थापित लोखंडी सावरगाव कोविड केंद्र भी फुल हो चुका है। वाबजूद इसके कोरोना मरीजों के आने का सिलसिला जारी है।