कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव आज, 22 साल बाद अध्यक्ष पद के लिए हो रहा चुनावी मुकाबला

सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक होगी वोटिंग, मल्लिकार्जुन खड़गे और शशि थरूर के बीच है मुकाबला, देशभर में 40 केंद्रों पर बनाए गए कुल 68 बूथों होगी वोटिंग

Updated: Oct 17, 2022, 09:12 AM IST

कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव आज, 22 साल बाद अध्यक्ष पद के लिए हो रहा चुनावी मुकाबला

नई दिल्ली। कांग्रेस के अगले अध्यक्ष को लेकर अब जल्द ही तस्वीर साफ होने वाली है। आज कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव होने जा रहा है। इस चुनाव में देशभर के कांग्रेस डेलीगेट्स हिस्सा लेंगे। खास बात यह है कि 22 साल बाद अध्यक्ष पद के लिए चुनाव होने जा रहा है।

 कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए आज सुबह 10 बजे से लेकर शाम 4 बजे तक वोटिंग होगी। इसमें देशभर के करीब 9800 डेलीगेट्स हिस्सा लेंगे। कांग्रेस की मौजूदा अध्यक्ष सोनिया गांधी, AICC महासचिव, राज्य प्रभारी, सचिव और संयुक्त सचिवों के साथ सुबह 24 अकबर रोड यानी कांग्रेस हेडक्वॉर्टर में वोट डालेंगे। उधर भारत जोड़ो यात्रा पर निकले राहुल गांधी और भारत यात्रियों के लिए यात्रा के दौरान कैंप में ही एक मतदान केंद्र बनाया गया है, जहां वे अपना वोट डालेंगे।

यह भी पढ़ें: बेल्लारी पहुंचकर भारत जोड़ो यात्रा में शामिल हुए कमलनाथ, राहुल संग मिलाया कदम ताल

देशभर में 40 मतदान केंद्र बनाएं गए हैं और बूथों की कुल संख्या 68 है। चुनाव के ठीक पहले रविवार शाम पार्टी के केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण के अध्यक्ष मधुसूदन मिस्त्री ने मतदाताओं के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं। उन्होंने बताया कि, 'बैलेट पेपर में दो उम्मीदवारों मल्लिकार्जुन खड़गे और शशि थरूर के नाम होंगे। मतदाताओं को अपने पसंदीदा उम्मीदवार के सामने बने बॉक्स में 'टिक' लगाने का निर्देश दिया जाता है। इसके अलावा कोई अन्य चिह्न बनाने या नंबर लिखने पर वोट अमान्य हो जाएंगे।' 

दरअसल, इससे पहले पसंदीदा उम्मीदवार के नाम के सामने 1 लिखना था। बताया जा रहा है कि शशि थरूर के आपत्ति के बाद टिक मार्क का निर्णय लिया गया है। वहीं चुनाव नतीजे बुधवार यानी 19 अक्टूबर को अनाउंस किए जाएंगे।कांग्रेस पार्टी में 22 साल बाद अध्यक्ष पद के लिए चुनाव हो रहा है, जबकि 24 साल बाद कोई गांधी परिवार से बाहर का अध्यक्ष होगा। यही नहीं कांग्रेस के 137 साल के इतिहास में अध्यक्ष पद के लिए छठी बार चुनावी मुकाबला हो रहा है।

इस चुनाव में 80 वर्षीय खड़गे का पलड़ा फिलहाल भरी लग रहा है। खड़गे गांधी परिवार के भरोसेमंद हैं और लोगों का मानना है कि खड़गे अध्यक्ष पद में गांधी परिवार के ही उम्मीदवार हैं। हालांकि, पार्टी ने साफ कर दिया है चुनाव में गांधी परिवार न्यूट्रल है। थरूर ने भी खुद को पार्टी में बदलाव के लिए मजबूत प्रत्याशी के रूप में पेश की है और उन्होंने कई राज्यों का दौरा कर अपने पक्ष में वोट मांगा है। बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए पिछली बार चुनाव 2000 में हुआ था जब जितेंद्र प्रसाद को सोनिया गांधी के हाथों जबरदस्त हार का सामना करना पड़ा था।