सरकार ने स्वीकार की एक्सपर्ट पैनल की सिफारिश, अब 12 से 16 हफ्ते के अंतर पर लगेगी कोविशील्ड वैक्सीन

केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह की सिफारिश मानी, कोविशिल्ड की दो खुराक के बीच का समय बढ़ाकर 12 से 16 सप्ताह करने का लिया फैसला, वहीं कोरोना से रिकवर हुए लोगों को 6 महीने बाद टीका लगाने को कहा गया

Updated: May 13, 2021, 05:50 PM IST

सरकार ने स्वीकार की एक्सपर्ट पैनल की सिफारिश, अब 12 से 16 हफ्ते के अंतर पर लगेगी कोविशील्ड वैक्सीन
Photo courtesy: DNA

दिल्ली। टीकाकरण को लेकर सरकार द्वारा बनाई गई कमेटी की सिफारिश मानते हुए सरकार ने कोरोना वैक्सीन कोवीशील्ड के दो खुराक के बीच 12 से 16 सप्ताह करने का फैसला लिया है। राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह ने सिफारिश थी कि कोवीशील्ड की खुराक के बीच अंतर बढ़ा दिया जाए। वर्तमान में 6 से 8 हफ्ते के गैप के बीच कोवीशील्ड के दो डोज लगाए जा रहे हैं।

NTAGI कोवैक्सिन के दो डोज में किसी तरह के अंतर की सिफारिश नहीं की है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार UK के स्वास्थ्य नियामक MHRA ने कोवीशील्ड को मंजूरी देते हुए कहा था कि इसकी दो खुराक के बीच तीन महीने का अंतर रखने पर वैक्सीन 80 प्रतिशत इफेक्टिव थी।

और पढ़ें: कोविड 19 से रिकवरी के 6 महीने बाद लगाई जाए कोरोना वैक्सीन: NTAGI

इसी के मद्देनजर भारत में भी कोवीशील्ड के दो खुराक में 12 हफ्ते का अंतर रखा जाने का फैसला लिया गया है। इससे ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सीन का लाभ मिल सकेगा।

और पढ़ें: बिहार में 25 मई तक बढ़ाया गया लॉकडाउन, सीएम नीतीश ने किया ऐलान

वहीं NTAGI ने कोरोना से ठीक हो चुके लोगों रिकवरी के 6 महीने के वैक्सीन लगवाने की बात कही है।देश में अबतक 17.72 करोड़ लोगों का वैक्सीनेशन हो चुका है इनमें से 13.76 करोड़ लोगों को वैक्सीन का पहला डोज, और  3.96 करोड़ लोगों का दूसरा डोज है।