गृहमंत्री अमित शाह का दावा, पहले चरण के मतदान में लीड कर रही है बीजेपी

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पहले चरण की वोटिंग के बाद बड़ा दावा किया है, गृह मंत्री ने कहा है कि बंगाल के 30 में 26 सीटें बीजेपी के खाते में जाएगी

Updated: Mar 28, 2021, 03:48 PM IST

गृहमंत्री अमित शाह का दावा, पहले चरण के मतदान में लीड कर रही है बीजेपी
Photo Courtesy: Twitter

कोलकाता। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने असम और पश्चिम बंगाल में कल हुए प्रथम चरण के मतदान को लेकर बड़ा दावा किया है। शाह ने कहा है कि पहले चरण में बीजेपी ने दोनों राज्यों में बंपर बढ़त बनाया है। शाह ने दावा किया कि उन्हें इस बात के संकेत मिले हैं की बंगाल के प्रथम चरण में जिन 30 सीटों पर चुनाव हुए हैं उनमें 26 सीटें बीजेपी के खाते में जाएगी। उन्होंने असम के 47 में से 37 से ज्यादा सीटों पर बीजेपी के कब्जे का दावा किया है।

अमित शाह ने आज राजधानी दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, 'बंगाल और असम के पहले चरण में भारी संख्या में लोगों ने मतदान किया है। इसके लिए मैं मतदाताओं का धन्यवाद करता हूं। ये भारी मतदान बीजेपी के लिए शुभ संकेत है। मुझे उम्मीद है बंगाल के पहले चरण में 30 सीटों में से 26 सीट बीजेपी जीतेगी। मुझे विश्वास है कि बीजेपी 200 से ज्यादा सीटों के साथ पश्चिम बंगाल में सरकार बनाएगी। असम में भी 47 में से 37 से ज्यादा सीटें जीतेंगे। अभी असम में जितनी सीटे हैं उससे ज्यादा सीटों के साथ बीजेपी इस बार सरकार बनाएगी।'

गृह मंत्री ने आगे कहा, 'असम और पश्चिम बंगाल में मतदान शांतिपूर्ण और सकारात्मक हुआ है। एक व्यक्ति की भी मृत्यु नहीं हुई है। दहशत थी कि हर बार की तरह गुंडे इस बार भी चुनाव को प्रभावित करेंगे। बंगाल में चुनाव आयोग को सफलतापूर्वक चुनाव कराने में सफलता मिली है। बंगाल के चुनाव में हिंसा आम बात हो गई थी। कई सालों के बाद यह पहला चुनाव है जब एक भी बम नहीं फटा है, एक भी गोली नहीं चली है।'

ममता बनर्जी द्वारा पीएम मोदी के बांग्लादेश दौरे पर सवाल किए जाने पर केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा, 'प्रधानमंत्री ने अपने बांग्लादेश दौरे पर कोई प्रचार की बात नहीं कही। PM का दौरा दो देशों के संबंधों को मजबूत करने के लिए है। वहां पर उन्होंने न चुनाव की बात कही, न ममता बनर्जी के लिए कुछ कहा है।' इस दौरान शाह ने एनसीपी चीफ शरद पवार के साथ मुलाकात की खबरों पर प्रतिक्रिया देने से मना कर दिया। गृहमंत्री ने इससे जुड़े एक सवाल पर कहा की सबकुछ सार्वजनिक नहीं किया जा सकता।