अगर 10 लाख नौकरी दी तो वापस ले लूंगा अपना अभियान, प्रशांत किशोर का सीएम नीतीश पर हमला

प्रशांत किशोर ने यह भी कहा कि बिहार की राजनीति में अगले विधानसभा चुनाव से पहले फिर एक बार बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा

Updated: Aug 18, 2022, 11:05 AM IST

अगर 10 लाख नौकरी दी तो वापस ले लूंगा अपना अभियान, प्रशांत किशोर का सीएम नीतीश पर हमला

पटना। चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर इन दिनों खुद के लिए राजनीतिक जमीन तलाशने बिहार भ्रमण पर हैं। इस दौरान उन्होंने महागठबंधन सरकार के 10 लाख सरकारी नौकरी के वादे पर तंज कसा है। उन्होंने चुनौती देते हुए कहा कि यदि तेजस्‍वी यादव, नीतीश कुमार और महागठबंधन की सरकार 10 लाख नौकरी दे दे तो मैं तेजस्‍वी को नेता मान लूंगा। 

प्रशांत किशोर इतने ही पर नहीं रुके। उन्होंने आगे कहा कि अगर ये सरकार 1-2 साल में 5-10 लाख नौकरियां दे देती है तो मैं इनके समर्थन में अपना अभियान वापस ले लूंगा। जनसूराज अभियान को वापस लेने के बाद मैं गठबंधन को समर्थन भी करूंगा। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि बिहार सरकार के पास पैसा ही नहीं है कि वो अपने कर्मचारियों को वेतन दे।

यह भी पढ़ें: डिटेंशन सेंटर में ही रहेंगे रोहिंग्या, फ्लैट देने की कोई योजना नहीं, हरदीप पुरी के दावों को गृह विभाग ने किया खारिज

जन सुराज अभियान के तहत समस्तीपुर पहुंचे प्रशांत किशोर ने नई नवेली महागठबंधन सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि येलोग किसे बेवकूफ बनाने की कोशिश कर रहे हैं। नियोजित शिक्षक स्कूलों में पढ़ा रहे हैं, उन्हें तो समय पर तनख्वाह ही नहीं पा रही ये सरकार और नई नौकरियां कहां से दे पाएगी?

प्रशांत किशोर ने आने वाले समय में राजनीतिक उठापटक की भी बात कही है। उन्होंने कहा, 'अभी हमको बिहार आए हुए 3 महीने ही हुए और यहां की राजनीति 180 डिग्री घूम गई। आप देखते रहिए अगला विधानसभा चुनाव आते-आते अभी कई बार बिहार की राजनीति घूमेगी।' उन्होंने सीएम नीतीश का नाम लिए बगैर कहा कि अभी अगला चुनाव आते आते फिर घूमिएगा। ये सरकार जुगाड़ पर चल रही है, इसे जनता का विश्वास प्राप्त नहीं है।'