जम्मू में इन चार जगहों पर थी धमाके की साजिश, जानें कहां तबाही मचाना चाहता था पाकिस्तान

पुलवामा हमले की दूसरी बरसी पर सुरक्षाबलों में पाकिस्तान के बड़े खूनी साजिश को किया नाकाम, पाक में बैठे आका दे रहे थे तबाही मचाने का आदेश

Updated: Feb 14, 2021, 08:42 PM IST

जम्मू में इन चार जगहों पर थी धमाके की साजिश, जानें कहां तबाही मचाना चाहता था पाकिस्तान
Photo Courtesy: Jagran

जम्मू। पुलवामा आतंकी हमले की दूसरी बरसी पर सुरक्षा बलों ने एक बड़ी घटना नाकाम करके दहशतगर्दों के इरादों पर पानी फेर दिया है। जम्मू-पुलिस के अधिकारियों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया है कि पाकिस्तान का मंसूबा किन जगहों पर तबाही मचाने का था। पुलिस ने बताया है कि चंडीगढ़ में पढ़ने वाले एक युवक को पाकिस्तानी आकाओं ने कैसे मैसेज भेजा और उसे कहां आईईडी प्लांट करना था।

जम्मू पुलिस के आईजी मुकेश सिंह ने बताया कि पुलिस हाई अलर्ट पर थी क्योंकि हमारे पास इनपुट्स थे कि आतंकी समूह पुलवामा हमले की बरसी पर हमले की योजना बना रहे थे। शनिवार रात पुलिस ने जम्मू बस स्टैंड से सोहेल नाम के एक व्यक्ति को गिरफ़्तार किया। उसके बैग से 6-6.5 किलो IED बरामद हुई। उसने बताया कि वह चंडीगढ़ के नर्सिंग कॉलेज का छात्र है। उसे पाकिस्तान के अल-बदर तंजीम से IED लगाने के निर्देश दिए गए थे।'

उन्होंने पाकिस्तान की इस साजिश का खुलासा करते हुए बताया कि 'सोहेल को IED लगाने के लिए 3-4 जगहें बताई गई थीं। इनमें रघुनाथ मंदिर, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन और लखदाता बाजार शामिल थे। इनमें किसी एक जगह पर उसको IED रखना था। इससे काफी बड़ा धमाका हो सकता था, जिसे जम्मू पुलिस ने नाकाम कर दिया। इसके बाद उसका प्लान यहां से श्रीनगर की फ्लाइट पकड़ने का था। जहां वो अल बद्र तंजीम से जुड़े अख्तर शकील खान से मिलता।'

इस मामले की जानकारी चंडीगढ़ के एक और शख्स काजी वसीम को थी। उसे भी हिरासत में ले लिया गया। इसके अलावा आबिद नबी को गिरफ्तार किया गया है। मुकेश सिंह ने बताया कि बीती रात 15 छोटे IED और 6 पिस्टल को सांबा से जब्त किया गया है। पाकिस्तानी दहशतगर्दों का मंसूबा था कि भारत में दुबारा से पुलवामा हमले जैसे ही खूनी खेल को अंजाम दिया जाए।

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में साल 2019 में आज ही के दिन सीआरपीएफ के काफिले पर फिदायीन हमला हुआ था। इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे। इस आतंकी हमले के पीछे पाकिस्तान के कुख्यात आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद का हाथ था। भारतीय वायुसेना ने इस हमले का जवाब देते हुए पाकिस्तान के बालाकोट में 26 फरवरी को एयरस्ट्राइक की थी। इसमें जैश के ठिकाने को वायुसेना ने तबाह कर दिया था।