आंध्र प्रदेश में बड़ा हादसा, रुइया अस्पताल में ऑक्सीजन सप्लाई रुकने से 11 मरीजो की दर्दनाक मौत

ऑक्सीजन आपूर्ति में आई बाधा से आंध्र प्रदेश के सरकारी अस्पताल में 11 मरीजों की जान गंवानी पड़ी। इस मामले में सीएम ने जांच के आदेश दे दिये हैं।

Updated: May 11, 2021, 08:43 AM IST

आंध्र प्रदेश में बड़ा हादसा, रुइया अस्पताल में ऑक्सीजन सप्लाई रुकने से 11 मरीजो की दर्दनाक मौत
Photo courtesy: ABP

दिल्ली। आंध्र प्रदेश के तिरुपति में बड़ा हादसा हुआ है। सोमवार को देर रात सरकारी रूइया अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी के चलते 11 कोरोना मरीजों ने दम तोड़ दिया। कलेक्टर एम. हरिनारायण ने इन मौतों की पुष्टि की है।


घटना देर रात 11 बजे की बताई जा रही है। तिरुपति के रुइया अस्पताल को कोविड केयर सेंटर बनाया गया था। यहां कोविड के अलावा भी अन्य मरीजों का इलाज चल रहा था। कलेक्टर  11 मौतों की पुष्टि कर रहे हैं। लेकिन अस्पताल की सुपरिटेंडेंट डॉ.भारतीय ने बताया कि 9 कोरोना मरीज 3 नॉन कोरोना मरीजों की मौत हुई है। जबकि 5 मरीजो की हालत गंभीर बनी हुई है। ऐसे में मौत का आंकड़ा बढ़ने की आशंका है। 

जिलाधिकारी ने अपने बयान में कहा कि ऑक्सीजन सिलेंडर को फिर से लोड करने में पांच मिनट लगे जिससे आक्सीजन आपूर्ति कम होने से मरीजों की मौत हो गई। हरि नारायणन ने कहा, "ऑक्सीजन की आपूर्ति पांच मिनट के भीतर बहाल हो गई और सब कुछ अब सामान्य हो गया है। इसकी वजह से हम अधिक मरीजों की मौत को रोक सके." लगभग 30 डॉक्टरों को मरीजों की देखरेख करने के लिए तुरंत आईसीयू में भेजा गया।


मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी ने इस घटना पर दुख व्यक्त किया। उन्होंने अस्पताल में हुई घटना के बारे में कलेक्टर से बात कर जानकारी ली। साथ ही विस्तृत जांच करने के निर्देश दिए। सीएम जगन मोहन ने अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि ऐसी घटनाएं दोबारा न हो। वहीं, डिप्टी सीएम और राज्य के स्वास्थ्य मंत्री अल्ला नानी ने रुइया अस्पताल की सुपरिटेंडेंट डॉ भारती से फोन पर हालात की जानकारी ली। 

गौरतलब है कि अन्ध्यप्रदेश में बीते 24 घंटे में कोविड -19 के 14986 नए मामले सामने आए हैं। इनमें से 84 मरीजो की जान जा चुकी है। अब तक यहां 13, 02, 589 कोरोना संक्रमित मरीज मिल चुके हैं। अब तक 8791 मरीजो की मौत हो चुकी है। राज्य में 1,89,367 कोरोना मरीजो का इलाज चल रहा है।