माणिक साहा ने ली त्रिपुरा के मुख्यमंत्री पद की शपथ, 2016 में कांग्रेस छोड़ भाजपा में हुए थे शामिल

गुजरात, कर्नाटक, उत्तराखंड के बाद विधानसभा चुनाव से पहले त्रिपुरा में भाजपा ने बदला मुख्यमंत्री

Updated: May 15, 2022, 03:33 PM IST

माणिक साहा ने ली त्रिपुरा के मुख्यमंत्री पद की शपथ, 2016 में कांग्रेस छोड़ भाजपा में हुए थे शामिल

अगरतला: त्रिपुरा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण राय ने माणिक साहा को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई।
विधायक दल का नेता चुने जाने पर भाजपा राज्य सरकार में मंत्री राम प्रसाद पॉल ने इस प्रस्ताव का विरोध किया और कुछ कुर्सियां भी तोड़ी।

यह भी पढ़ें: त्रिपुरा के सीएम बिपल्ब देब ने दिया इस्तीफा, 2023 के चुनाव में भाजपा उतारना चाहती है नया चेहरा

माणिक साहा त्रिपुरा प्रदेश भाजपा अध्यक्ष हैं और 2022 में त्रिपुरा की एक मात्र राज्यसभा सीट से राज्यसभा भेजे गए थे। वर्ष 2016 में माणिक साहा कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए थे और 2020 में उन्हें त्रिपुरा भाजपा का प्रदेशाध्यक्ष नियुक्त किया गया था। माणिक साहा उत्तर पूर्व राज्यों के ऐसे चौथे कांग्रेसी हैं, जिन्हें भाजपा ने मुख्यमंत्री बनाया है।

कल बिप्लब कुमार देव ने अपने पद से इस्तीफा दिया था। वर्ष 2018 के विधानसभा चुनाव में भाजपा की सरकार बनी थी और बिप्लब कुमार देव को मुख्यमंत्री बनाया गया था, लेकिन विधायको में बिप्लब कुमार देव की कार्यशैली से नाराजगी बढ़ती जा रही थी।

गुजरात, कर्नाटक, उत्तराखंड के बाद विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा ने त्रिपुरा में मुख्यमंत्री बदला है। त्रिपुरा में फरवरी 2023 में विधानसभा चुनाव होने हैं। आगामी चुनाव से पहले मुख्यमंत्री बदलना जनता में सरकार के खिलाफ नाराजगी दूर करने का प्रयास है।