नगर निकाय चुनाव की तैयारियों में जुटी कांग्रेस, भोपाल महापौर प्रत्याशी चयन के लिए बनी समिति

कांग्रेस ने भोपाल महापौर पद के प्रत्याशी के लिए दिग्विजय सिंह समेत कई अन्य दिग्गजों को बनाया समिति का सदस्य, आम सहमति से होगा उम्मीदवार का चुनाव

Updated: Dec 15, 2020, 03:15 AM IST

नगर निकाय चुनाव की तैयारियों में जुटी कांग्रेस, भोपाल महापौर प्रत्याशी चयन के लिए बनी समिति
Photo: Humsamvet

भोपाल। मध्यप्रदेश में आगामी नगर निगम चुनाव के लिए मध्यप्रदेश कांग्रेस ने कमर कस ली है। पार्टी ने तय किया है कि इस बार प्रत्याशियों का चयन आम सहमति से किया जाएगा। कांग्रेस ने राजधानी भोपाल के लिए 14 सदस्यीय कमेटी का गठन किया है। इस कमेटी में वरिष्ठ नेता व राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह समेत कई दिग्गजों को जिम्मेदारी सौंपी गयी है। खास बात यह है कि कांग्रेस ने इस कमेटी में दिग्गजों के अलावा आम कार्यकर्ताओं को भी जगह दी है।

राजधानी भोपाल के महापौर पद के प्रत्याशी चयन समिति में भोपाल शहर से कांग्रेस अध्यक्ष कैलाश मिश्रा और भोपाल ग्रामीण जिलाध्यक्ष अरुण श्रीवास्तव को अध्यक्ष बनाया है। इस समिति में बतौर सदस्य पूर्व सीएम व भोपाल लोकसभा क्षेत्र के उम्मीदवार रहे दिग्विजय सिंह, विधायक आरिफ मसूद, आरिफ अकील और पीसी शर्मा को शामिल किया गया है। साथ ही विधानसभा चुनाव में पार्टी के उम्मीदवार रहे महेंद्र सिंह चौहान, जयश्री हरकिरन और नरेश ज्ञानचंदानी को भी रखा गया है।

जमीनी कार्यकर्ताओं को भी मिली तरजीह

खास बात यह है कि इस समिति में पार्टी ने जमीन से जुड़े आम कार्यकर्ताओं को भी तरजीह दी है। कांग्रेस ने इसके पहले ही स्पष्ट किया था कि नगर निगम चुनावों में उम्मीदवारों का चयन आम सहमति से किया जाएगा। इसी के मद्देनजर छात्र संगठन एनएसयूआई के जिला अध्यक्ष तक को शामिल किया गया है। इसके अलावे भोपाल नगर निगम में मौजूदा नेता प्रतिपक्ष रहे सगीर अहमद, यूथ कांग्रेस, सेवादल व महिला कांग्रेस के अध्यक्षों को भी शामिल किया गया है। पार्टी ने लखन घनघोरिया और शारदा पाठक को मनोनीत प्रभारी बनाया है। 

भोपाल के अलावा अन्य नगरों के चुनाव के लिए भी पार्टी ने प्रभारियों व सहप्रभारियों की सूची जारी की है। प्रभारियों में पार्टी विधायकों का नाम मुख्य रूप से शामिल किया गया है। बताया जा रहा है कि प्रदेश कांग्रेस ने तय किया है कि विधायकों को निकाय चुनाव जितवाने की जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। सभी विधायकों को स्थानीय चुनाव में सक्रिय भूमिका निभाने के निर्देश प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ की ओर से दिए गए हैं। उन्हें अपने विधानसभा क्षेत्र के साथ-साथ जिले के अन्य निकायों में भी पार्टी प्रत्याशियों को जिताने में भूमिका निभानी होगी।

 राज्य निर्वाचन आयोग ने नगरीय निकाय चुनाव की सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं। वार्ड के साथ महापौर और अध्यक्ष पद के आरक्षण की प्रक्रिया हो चुकी है। निकायों की मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन भी एक-दो दिन में हो जाएगा। इसके बाद चुनाव कार्यक्रम घोषित कर दिया जाएगा।