काशी में दिखा PM का कैमरा प्रेम, कैंडिड शूट के लिए 55 कैमरामैन, एरियल शॉट्स के लिए ड्रोन की तैनाती

30 घंटे के काशी प्रवास पर पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी, गंगा में डुबकी लगाने के बाद काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का किया लोकार्पण, स्पेशल फोटोग्राफी के लिए दूरदर्शन के 55 कैमरामैन को मैदान में लगाया

Updated: Dec 13, 2021, 05:45 PM IST

काशी में दिखा PM का कैमरा प्रेम, कैंडिड शूट के लिए 55 कैमरामैन, एरियल शॉट्स के लिए ड्रोन की तैनाती

वाराणसी। पीएम नरेंद्र मोदी ने आज अपने लोकसभा क्षेत्र काशी में काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का लोकार्पण किया। इससे पहले उन्होंने गंगा नदी में डुबकी लगाई। पीएम मोदी करीब 30 घंटे के लिए काशी पहुंचे हैं। विधानसभा चुनावों के मद्देनजर बीजेपी ने पीएम मोदी के इस कार्यक्रम के व्यापक कवरेज के लिए कोई कसर नहीं छोड़ा है। खास बात ये है कि यहां पीएम मोदी का कैमरा प्रेम भी देखने को मिला।

दरअसल, पीएम मोदी की पल-पल की तस्वीरें खींचने के लिए सरकार ने दूरदर्शन के 55 कैमरामैन को मैदान में उतारा है। बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री की पल-पल की तस्वीर खींचने के लिए उन्हें रात-दिन ड्यूटी पर लगाया गया है। जानकारी के मुताबिक सभी कैमरामैन हाई डिस्प्ले फोटोज खींचने के लिए विशेष लेंस के साथ तैनात हैं। 

 

बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से इन कैमरामैन को कैंडिड फोटोज, ट्रेडिशनल शूटिंग, क्लोजअप शॉट्स, लो एंगल और वाइड एंगल सभी तरह के फोटोज निकलने की जिम्मेदारी दी है। इतना ही नहीं एरियल शॉट्स और वीडियो के लिए कई ड्रोन कैमरा लगाए गए हैं। आजाद भारत के इतिहास में पीएम मोदी ऐसे पहले प्रधानमंत्री हैं जिनकी तस्वीर खींचने के लिए एकसाथ इतने सारे कैमरामैन लगाए गए हों। 

सोमवार सुबह साढ़े 10 बजे प्रधानमंत्री मोदी वाराणसी पहुंचने के बाद काल भैरव मंदिर में पूजा करने पहुंचे थे।मंदिर के अंदर से पीएम की ओर से की गई आरती की तस्वीरें भी सामने आईं। इसके बाद पीएम का कारवां डबल डेकर बोट पर सवार हुआ वहां से भी कई तस्वीरें आई। 

पीएम ने इस दौरान गंगा नदी में स्नान कर सूर्य को अर्घ्य दिया। पीएम जब गंगा में डुबकी ले रहे थे तब दर्जनों अलग-अलग एंगल से उनकी तस्वीरें उतारी गई और ड्रोन कैमरों से वीडियो बनाया गया। जो लगातार भाजपा आईटी सेल के हैंडल्स से विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर शेयर किए जा रहे हैं। 

पीएम यहां स्नान करने के बाद चारपहिया वाहन से हाथ हिलाते हुए काशी विश्वनाथ पहुंचे। हद्द तो तब हो गई जब गाड़ी में भी प्रधानमंत्री के पीछे कैमरामैन को ही बैठाया गया जिसने अंदर से वीडियो बनाई। काशी विश्ववनाथ मंदिर से आई फुटेज में देखा जा सकता है कि कवरेज और फोटाग्राफी की कितनी बड़े स्तर पर  तैयारी की गई थी। 

 

पूरे मंदिर में प्रधानमंत्री जिधर गए उनके पीछे ड्रोन और दर्जनों कैमरामैन ही थे, जिन्हें सख्त हिदायत थी कि पीएम मोदी का एक भी दृश्य छूटना नहीं चाहिए।  बता दें की प्रधानमंत्री मोदी का कैमरा प्रेम कई मौकों पर सामने आ चुका है। एक बार तो वे गुफा में ध्यान करने भी कैमरा मैन के साथ पहुंचे थे। यही वजह है कि विपक्षी दल कैमराजीवी कहकर पीएम मोदी पर व्यंग करते हैं।