पीएम मोदी की आज मुख्यमंत्रियों के साथ अहम बैठक, कोरोना की दूसरी लहर से जुड़े मसलों पर होगी बात

मुख्यमंत्रियों के साथ प्रधानमंत्री की अहम बैठक के बाद कोरोना महामारी को दोबारा तेज़ी से बढ़ने से रोकने के लिए कुछ बड़े फ़ैसले भी किए जा सकते हैं

Updated: Mar 17, 2021, 02:05 PM IST

पीएम मोदी की आज मुख्यमंत्रियों के साथ अहम बैठक, कोरोना की दूसरी लहर से जुड़े मसलों पर होगी बात
Photo courtesy: bhaskar

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस का कहर फिर तेजी से बढ़ रहा है। यही वजह से कई राज्यों में नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज महामारी की वजह से पैदा ताज़ा हालात की समीक्षा के लिए मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक करेंगे। यह बैठक दोपहर 12 बजे वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये होनी है। बैठक में महाराष्ट्र, केरल, तमिलनाडु, गुजरात, पंजाब, कर्नाटक, छत्तीसगढ़ और हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री शामिल हो सकते हैं।

आज की बैठक में कोरोना महामारी की दूसरी लहर को रोकने के लिए देश भर में कुछ बड़े कदम उठाने के बारे में भी कोई फैसला हो सकता है। अनुमान लगाया जा रहा है कि आज होने वाली बैठक में सभी नागरिकों के वैक्सीनेशन का खाका तैयार किया जा सकता है। यह भी सकता है कि फ्रंटलाइन वर्कर्स की कैटेगरी में वकीलों, शिक्षकों और पत्रकारों को भी शामिल कर लिया जाए। देश में 16 जनवरी को वैक्सीनेशन की मुहिम शुरू हुई थी। प्रधानमंत्री ने उससे पहले भी मुख्यमंत्रियों के साथ बातचीत की थी। देश भर में  अब तक 3.29 करोड़ से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है। इसके लिए मेडिकल सेंटरों की संख्या भी बढ़ाई जा सकती है। हफ्ते के सातों दिन वैक्सीन लगाने पर भी सहमति बन सकती है।

देश में कोरोना वायरस के इंफेक्शन में तेजी से इजाफा हो रहा है। खास तौर पर महाराष्ट्र में कोरोना वायरस का प्रकोप काफी तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे में पीएम मोदी की मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक बेहद अहम होने वाली है। कोरोना के प्रकोप के अलावा पीएम मोदी देश में टीकाकरण शुरू होने के बाद पहली बार मुख्यमंत्रियों के साथ बातचीत करने जा रहे हैं। ऐसे में प्रधानमंत्री राज्यों के टीकाकरण की प्रगति और इसमें आने वाली दिक्कतों की भी समीक्षा करेंगे। चर्चा है कि इस बैठक में कई अहम फैसले भी लिए जा सकते हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मंत्रालय के अलावा आईसीएमआर और एनसीडीसी के शीर्ष अधिकारी भी बैठक में मौजूद रह सकते हैं।