राजस्थान में नहीं चलेगा बीजेपी का षड्यंत्र, गहलोत सरकार के मंत्री खाचरियावास की खुली चुनौती

Rajasthan: प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि राजस्थान के मुखिया गहलोत 24 घंटे सचेत रहते हैं, बीजेपी का षड्यंत्र यहां नहीं चलेगा

Updated: Dec 07, 2020, 01:00 AM IST

राजस्थान में नहीं चलेगा बीजेपी का षड्यंत्र, गहलोत सरकार के मंत्री खाचरियावास की  खुली चुनौती
Photo Courtesy: Patrika

जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बाद प्रदेश के परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने भी बीजेपी पर करारा हमला किया है। उन्होंने कहा कि बीजेपी का सरकार गिराने का षड्यंत्र राजस्थान में नहीं चलेगा, क्योंकि यहां के मुखिया 24 घंटे सचेत रहते हैं। इससे पहले गहलोत ने बीजेपी पर राजस्थान की चुनी हुई सरकार को गिराने का षड्यंत्र करने का आरोप लगाया था। जिसके बाद राजस्थान में एक बार फिर सियासत गरमा गई है और बयानबाजी का दौर शुरू हो गया है।

खाचरियावास ने कहा कि सीएम गहलोत ने पिछली बार जो आशंका व्यक्त की थी, वह सही निकली। उन्होंने जो बयान दिया है, उसे कोई चुनौती नहीं दे सकता। अशोक गहलोत राजनीति के माहिर खिलाड़ी हैं। उन्होंने बीजेपी की चोरी एक बार फिर से पकड़ ली है। उन्होंने आगे कहा कि गुलाबचंद कटारिया ने राजस्थान में कांग्रेस की सरकार को 6 महीने में गिराने का दावा किया था। लेकिन बीजेपी अब अपने बयान से पलट रही है। बीजेपी को यह साफ करना होगा कि वह लोकतंत्र का अपमान करना चाहती है या फिर सम्मान।

खाचरियावास ने कहा कि बीजेपी का सरकार गिराने का षड्यंत्र दूसरे राज्यों में कामयाब हुआ है, लेकिन राजस्थान में बीजेपी कभी कामयाब नहीं हो सकती। राजस्थान में अशोक गहलोत बीजेपी के मंसूबों को कामयाब नहीं होने देंगे। गुलाबचंद कटारिया को अपने बयान से पलटने के लिए माफी मांगनी चाहिए।

यह भी पढ़ें: राजस्थान में सरकार गिराने का खेल एक बार फिर शुरू, गहलोत का बीजेपी पर बड़ा आरोप

बता दें कि अशोक गहलोत ने बीजेपी पर सरकार गिराने का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि बीजेपी ने राज्य में एक बार फिर सरकार गिराने का खेल शुरू कर दिया है। शनिवार को अशोक गहलोत ने शिवगंज स्थित कांग्रेस कार्यालय भवन के वर्चुअल उद्घाटन के दौरान यह बात कही। उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि बीजेपी महाराष्ट्र में भी सरकार गिराने की कोशिश में है।

इसे भी पढ़ें: Dharmendra Pradhan: गहलोत के आरोपों का जवाब कभी ठहाका तो कभी जय श्री हनुमान

गहलोत ने सीधे-सीधे केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान पर कांग्रेस विधायकों को तोड़ने की कोशिश करने का आरोप भी लगाया है। लेकिन दिलचस्प बात यह है कि धर्मेंद्र प्रधान ने मध्य प्रदेश के इंदौर में इस बारे में पत्रकारों के बार-बार पूछने पर भी कोई जवाब नहीं दिया। यहां तक कि उन्होंने आरोप का खंडन भी नहीं किया, जिससे गहलोत के आरोपों के बाद शुरू हुई अटकलें और तेज़ हो गई हैं।