Mumbai : बाबासाहेब अंबेडकर के घर में तोड़फोड़ जांच के आदेश

Dr. B.R Ambedkar के पोते व वंचित अघाड़ी नेता प्रकाश अंबेडकर ने की शांति बनाए रखने की अपील

Publish: Jul-08, 2020, 09:04 PM IST

Mumbai : बाबासाहेब अंबेडकर के घर में तोड़फोड़ जांच के आदेश

भारत के संविधान निर्माता डॉक्टर भीमराव अंबेडकर के महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई स्थित घर में अज्ञात लोगों द्वारा तोड़फोड़ की गई है। यह घटना मंगलवार 7 जुलाई की है। बताया जा रहा है कि शाम को कुछ अज्ञात लोगों में मुंबई के दादर स्थित घर 'राजगृह' में घुसकर वहां लगे सीसीटीवी कैमरे को नुकसान पहुंचाया और गमलों को भी तोड़ दिए। मामले पर मुंबई पुलिस ने संज्ञान लेते हुए अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दिए है। 

न्यूज़ एजेंसी एएनआई ने घटनास्थल की कुछ तस्वीरें जारी की हैं जिसमें साफ देखा जा सकता है कि आवास के बाहरी हिस्सों (गार्डन और बरामदे) को काफी नुकसान पहुंचाया गया है। बता दें कि दादर के हिंदू कॉलोनी में स्थित दो मंजिला हेरिटेज बंगले में आंबेडकर संग्रहालय है, जहां बाबा साहेब की किताबें, चित्र, राख और बर्तन कलाकृतियों के बीच रखी हुईं हैं। राजगृह में फिलहाल बाबा साहेब की बहू और उनके पोते वंचित बहुजन अघाडी नेता प्रकाश आंबेडकर, आनंदराव और भीमराव रहते हैं। 

 

घटने के वक्त मौजूद नहीं थे प्रकाश अंबेडकर

रिपोर्ट्स के मुताबिक जब बदमाशों ने राजगृह में तोड़फोड़ किया उस वक़्त बाबासाहेब अंबेडकर के पोते व वंचित अघाड़ी नेता प्रकाश अंबेडकर वहां मौजूद नहीं थे। उस समय प्रकाश महाराष्ट्र के अकोला में थे। हालांकि उन्होंने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है। न्यूज़ एजेंसी एएनआई के माध्यम से उन्होंने कहा, 'यह सच है कि दो लोग राजगृह आए थे और उन्होंने अन्य सामान के साथ सीसीटीवी तोड़ने का भी प्रयास किया। लेकिन महाराष्ट्र पुलिस ने मामले को तत्काल संज्ञान में लेते हुए घटना की जांच कर रहे हैं। तबतक मैं सभी लोगों से शांति बनाए रखने की अपील करता हूं और कृप्या लोग राजगृह के निकट एकत्रित न हों।'

गृहमंत्री ने दिए जांच के आदेश

मामले पर महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने जांच के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा, 'मैने पुलिस को इस मामले की जांच करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही जो आरोपी है उसे गिरफ्तार करने को भी कहा है। यह घटना निंदनीय है।' ऑल इंडिया प्रोफेशनल कांग्रेस ने बुधवार को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मामले पर करवाई करने की अपील की है। एआईपीसी मुंबई ईस्ट ने ट्वीट कर कहा, 'यह निंदनीय है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री को तुरंत मामले पर गौर करना चाहिए, यह डॉ अंबेडकर की विरासत का अनुस्मारक है।'