कोरोना की लड़ाई में मोदी सरकार से 100 कदम आगे हैं राहुल गांधी, अपने मुखपत्र सामना में शिवसेना ने मोदी सरकार पर साधा निशाना

शिवसेना ने कोरोना के लिए मोदी सरकार और चुनाव आयोग को ठहराया जिम्मेदार, कहा बीजेपी कार्यकर्ताओं की वजह से देश में फ़ैला कोरोना

Publish: Apr 18, 2021, 09:42 AM IST

कोरोना की लड़ाई में मोदी सरकार से 100 कदम आगे हैं राहुल गांधी, अपने मुखपत्र सामना में शिवसेना ने मोदी सरकार पर साधा निशाना
Photo Courtesy: Dainik Bhaskar

नई दिल्ली/मुंबई। शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला है। देश में आई कोरोना की दूसरी लहर के लिए शिवसेना ने मोदी सरकार को ज़िम्मेदार ठहराया है। साथ ही शिवसेना ने कोरोना की लड़ाई में कांग्रेस नेता राहुल गांधी की सूझबूझ की तारीफ भी की है। 

शिवसेना ने अपने मुखपत्र में कहा है कि जब राहुल गांधी कोरोना से निपटने के लिए विदेशी वैक्सीन के इस्तेमाल की बात कर रहे थे, तब बीजेपी के नेता राहुल गांधी को दलाल करार दे रहे थे। लेकिन अब खुद बीजेपी विदेशों से वैक्सीन आयात कर रही है। बीजेपी को यह समझना चाहिए कि राहुल गांधी कोरोना की लड़ाई में उससे 100 कदम आगे हैं। 

शिवसेना ने बीजेपी के नेताओं पर हमला बोलते हुए कहा कि जब देश में कोरोना पहुंचा तब चीन को ज़िम्मेदार ठहराया गया। लेकिन इस दूसरी लहर के लिए पूरी तरह से बीजेपी और केंद्र सरकार ज़िम्मेदार है। शिवसेना ने कोरोना के दौर में पश्चिम बंगाल में हो रही चुनावी रैलियों को लेकर भी मोदी सरकार पर निशाना साधा है। शिवसेना ने कहा है कि ऐसी विषम परिस्थितियों में भी बंगाल में चुनावी रैलियां हो रही हैं। इसके लिए पूर्णतः केन्द्रीय चुनाव आयोग ज़िम्मेदार है। 

शिवसेना ने कहा है कि देश भर में कोरोना बीजेपी के कार्यकर्ताओं की वजह से ही फैला है। सामना के संपादकीय में लिखा है कि बंगाल की चुनावी रैलियों में देश के विभिन्न राज्यों से बीजेपी के कार्यकर्ता शिरकत करने पहुंचे। वहां से लौटकर इन्हीं कार्यकर्ताओं ने देश में कोरोना फैला दिया। 

शिवसेना ने कहा है कि तमिलनाडु, असम और केरल में पहले से ही बीजेपी का सूपड़ा साफ होना तय है। पुदुच्चेरी चूंकि केंद्र शासित प्रदेश है, इसलिए बीजेपी की उसमें ज़्यादा दिलचस्पी नहीं है। बीजेपी को लगता है कि बंगाल में उसके लिए संभावना है। इसलिए उसने वहां एड़ी चोटी का ज़ोर लगा रखा है। शिवसेना ने पूछा है कि क्या बीजेपी के बंगाल चुनाव जीतने से देश से कोरोना समाप्त हो जाएगा। और अगर बीजेपी बंगाल में हार गई तो क्या कोरोना का ठीकरा वह ममता बैनर्जी पर फोड़ने वाली है।