यूपी के ललितपुर में पुलिस और गांव वालों में टकराव, 4 पुलिसवाले और 6 ग्रामीण घायल

ललितपुर में ग्रामीण भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद का जन्मदिन मना रहे थे, पुलिस के रोकने पर मचा बवाल

Updated: Dec 05, 2020, 01:57 AM IST

यूपी के ललितपुर में पुलिस और गांव वालों में टकराव, 4 पुलिसवाले और 6 ग्रामीण घायल
Photo Courtesy: Dainik Bhaskar

ललितपुर। यूपी के ललितपुर में पुलिस और ग्रामीणों के बीच टकराव में एक इंस्पेक्टर और महिला सिपाही समेत 4 पुलिसकर्मी और 6 ग्रामीण घायल हो गए। ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस ने उनके साथ बेवजह मारपीट की। वहीं पुलिस का दावा है कि विवादित जमीन पर निर्माण रोकने पर गांव वालों ने हमला किया। मामला नाराहट थाना इलाके के बरौदिया गांव का है।

पुलिस के मुताबिक गांव वाले भीम आर्मी और आजाद पार्टी के मुखिया चंद्रशेखर आजाद का जन्मदिन विवादित जगह पर मना रहे थे। इस दौरान उन्होंने एक चबूतरे का निर्माण भी शुरू कर दिया। जब पुलिस को इसकी भनक लगी तो मौके पर पहुंचकर उन्हें रोकने की कोशिश की। इसी दौरान पुलिस और ग्रामीणों के बीच झड़प हो गई।

पुलिस का आरोप है कि गांव वालों ने पहले पुलिस पर पथराव किया, जिसमें पुलिस की गाड़ियों को नुकसान पहुंचा है। सीओ को अपनी जान बचाकर भागना पड़ा। काफी देर तक ग्रामीणों और पुलिस के बीच टकराव चलता रहा। इस दौरान थानाध्यक्ष नाराहट श्याम प्रकाश शर्मा, एक महिला कांस्टेबल सहित 4 पुलिसकर्मी और 6 ग्रामीण घायल हो गए। इनमें से तीन ग्रमीणों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस बीच, गांव में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

पुलिस अधीक्षक डॉ. बृजेश कुमार ने बताया कि इस मामले में 170 अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। पुलिस का कहना है कि हमलावरों को चिन्हित कर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। खबर है कि ग्रामीणों ने भी पुलिस पर लाठियों से महिलाओं को पीटने का आरोप लगाया है, जिसमें आधा दर्जन महिलाओं के घायल होने की बात कही जा रही है। गांव वालों के मुताबिक 65 साल की एक बुजुर्ग महिला समेत तीन महिलाओं को गंभीर रूप से घायल होने पर अस्तपाल में भर्ती कराया गया है। फिलहाल गांव में तनाव का माहौल है।