महाराष्ट्र सरकार गिराने की साजिश में जुटी टीम मोदी, केंद्रीय मंत्री का दावा- मार्च तक होगी हमारी सरकार

महाविकास अघाड़ी के नेता लगातार केंद्र सरकार पर राज्य सरकार को अस्थिर करने की साजिश का आरोप लगाते रहे हैं, अब केंद्रीय मंत्री ने खुद कहा है कि हम मार्च तक सरकार गिरा देंगे

Updated: Nov 26, 2021, 06:17 PM IST

महाराष्ट्र सरकार गिराने की साजिश में जुटी टीम मोदी, केंद्रीय मंत्री का दावा- मार्च तक होगी हमारी सरकार

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार गिराने और राजस्थान में नाकाम कोशिशों के बाद टीम मोदी की नजर अब महाराष्ट्र सरकार पर है। बताया जा रहा है कि टीम मोदी प्रदेश में चल रही उद्धव ठाकरे की सरकार को गिराने की साजिश में जुट गई है। खास बात यह है कि खुद मोदी कैबिनेट के दिग्गज मंत्री ने सार्वजनिक रूप से इस बात को न सिर्फ स्वीकारा है बल्कि उन्होंने डेडलाइन भी तय कर दी है।

महाराष्ट्र बीजेपी के दिग्गज नेता व केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने जयपुर में ऐसा खुलासा किया जिससे महाराष्ट्र की राजनीति गरमा गई है। राणे ने यहां मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि मार्च तक हम महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार को गिरा देंगे और बीजेपी अपनी सरकार बनाएगी। उन्होंने कहा, 'मैं अंदर की बात बताना नहीं चाहता। सरकार गिराने के लिए कुछ बातें सीक्रेट रखनी होती है। अगर सारी बात हम अभी बता देंगे तो इसमें एकाध महीने देर हो जाएगी।'

यह भी पढ़ें: जो लोकतांत्रिक चरित्र खो चुके हैं, वो लोकतंत्र की रक्षा कैसे करेंगे, संविधान दिवस पर पीएम मोदी

नारायण राणे के इस बयान के बाद महाराष्ट्र में राजनीतिक घटनाक्रम तेज हो गई है। बताया जा रहा है कि एनसीपी प्रमुख शरद पवार दिल्ली पहुंचे हैं। उधर कल ही महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल और पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की है। इसके बाद दोनों नेताओं ने बीएल संतोष से भी मुलाकात की। ऐसे में माना जा रहा है कि बीजेपी नेता प्रदेश में जरूर कुछ खिचड़ी पका रहे हैं।

बता दें कि बीते साल ही बीजेपी ने ऑपरेशन लोटस के तहत मध्य प्रदेश में भी कमलनाथ सरकार को गिराया था। एमपी में सफलता मिलने के बाद ऑपरेशन लोटस राजस्थान पहुंचा। हालांकि यहां कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के हस्तक्षेप के बाद बीजेपी को मुंह की खानी पड़ी। ऐसे में अब बीजेपी के शीर्ष नेतृत्व महाराष्ट्र पर नजर गड़ाए बैठे है। खास बात ये है कि शुरुआत में बीजेपी नेतृत्व लगातार यह दावे करती है कि इसमें उनका कोई हाथ नहीं है लेकिन बाद में बीजेपी नेताओं के बयानों से ही सब स्पष्ट हो जाता है। इस बार तो बीजेपी ने खुले तौर पर लोकतांत्रिक तरीके से चुनी हुई सरकार को गिराने की घोषणा कर दी है।