मध्य प्रदेश के तीन पुलिसकर्मी नोएडा में गिरफ्तार, घूस लेने का आरोप

मध्य प्रदेश के जबलपुर की साइबर क्राइम सेल के दो इंस्पेक्टर और एक सिपाही नोएडा में 22 लाख की घूस लेते गिरफ्तार

Updated: Dec 22, 2020, 01:25 AM IST

मध्य प्रदेश के तीन पुलिसकर्मी नोएडा में गिरफ्तार, घूस लेने का आरोप
Photo Courtesy: Bhaskar

नोएडा। मध्यप्रदेश के तीन पुलिसकर्मी 22 लाख की रिश्वत लेने के आरोप में नोएडा में गिरफ्तार कर लिए गए हैं। ये पुलिसकर्मी जबलपुर की साइबर क्राइम सेल में तैनात हैं। तीनों यूपी के नोएडा में एक केस की जांचे के सिलसिले में पहुंचे थे। जहां एक पुलिसकर्मी की सर्विस रिवॉल्वर लूटे जाने का मामला सामने आया था। पुलिसकर्मियों ने उसकी शिकायत नोएडा पुलिस से की। लेकिन जब नोएडा पुलिस ने मामले की जांच की तो एमपी पुलिस ही सवालों के घेर में आ गई। दरअसल नोएडा पुलिस ने जांच के बाद एमपी साइबर सेल के दो इंस्पेक्टर और एक आरक्षक को ही गिरफ्तार कर लिया है। नोएडा के दो आरोपियों को मिलाकर इस मामले में कुल पांच लोगों की गिरफ्तारी की गई है।

क्या है पूरा मामला

दरअसल जबलपुर में दर्ज साइबर ठगी के एक केस की जांच के बहाने तीनों पुलिसकर्मी नोएडा के सेक्टर 18 पहुंचे थे। शुक्रवार को एक बैंक के सामने कुछ लोगों से तीनों का विवाद हो गया था। विवाद बढ़ने पर एक एसआई ने पिस्तौल तान दी, तभी एक बदमाश उनकी सर्विस रिवॉल्वर लेकर भाग खड़ा हुआ। नोएडा पुलिस ने पिस्तौल लूट का मामला दर्ज किया। जिसकी जांच में चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। नोएडा के जॉइंट सीपी लव कुमार ने खुलासा किया कि मध्यप्रदेश के तीनों पुलिसकर्मी पैसे की उगाही करने वहां गए थे।

और पढ़ें: जबलपुर के दो सब इंस्पेक्टर्स के साथ नोएडा में मारपीट, एक की सर्विस रिवॉल्वर भी छीनी

साइबर अपराधी के संपर्क में थे पुलिसकर्मी

ये तीनों पुलिसकर्मी साइबर ठगी के मुख्य आरोपी सूर्यभान यादव के संपर्क में थे। सूर्यभान का खाता पुलिस ने फ्रीज करवाया था, उस खाते में 58 लाख रुपये जमा थे। पुलिसकर्मियों का प्लान था कि इस खाते को डिफ्रीज करके कुछ पैसे फरियादी के खाते में डाल दिया जाएं और बाकी 22 लाख रुपए आरोपी सूर्यभान से कैश में ले लिया जाए।

 साइबर ठग ने पुलिस से लूट का बनाया था प्लान

आरोपी सूर्यभान ने तीनों पुलिसकर्मियों को लुटवाने की साजिश रची। इस बात का खुलासा उसने पूछताछ के दौरान नोएडा पुलिस से किया। वह इस फिराक में था कि पुलिसकर्मियों को 22 लाख देने के बाद उन्हें लुटवा देगा। उसकी साजिश सफल होती इससे पहले ही पुलिसकर्मियों से सूर्यभान का झगड़ा हो गया जिसके बाद एक एसआई ने अपनी रिवॉल्वर निकाल ली, जिसे लेकर सूर्यभान का एक साथी भाग गया।

और पढ़ें: आर्थिक अपराध शाखा के SP राजेश मिश्रा और व्यापम आरोपी सुधीर शर्मा की दोस्ती पर उठे सवाल

 एमपी पुलिस ने दर्ज करवाई थी रिवॉल्वर लूट की शिकायत

अपनी सर्विस रिवॉल्वर लूटे जाने की शिकायत पुलिसकर्मी ने नोएडा के सेक्टर 18 के थाने में की। जिसके बाद नोएडा पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज की मदद से मुख्य आरोपी सूर्यभान यादव और उसके भाई को गिरफ्तार किया। उनसे पूछताछ में यह पूरी कहानी सामने आई। जिसके बाद मध्य प्रदेश से साइबर सेल की टीम के तीनों सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। नोएडा पुलिस का कहना है कि इससे पहले भी एक एसआई के खाते में 22 लाख रुपये कीमत की बिटक्वॉइन जमा हो चुकी है।