सुरेश रैना: ऋषभ पंत को तो लोगों ने मंदिर का घंटा समझ लिया था

सुरेश रैना ने कहा कि टीम इंडिया को ऋषभ पंत को बैक करने की ज़रूरत है, पंत में भारतीय टीम के लिए 10-15 सालों तक क्रिकेट खेलने की क्षमता है

Publish: Apr 02, 2021, 04:02 PM IST

सुरेश रैना: ऋषभ पंत को तो लोगों ने मंदिर का घंटा समझ लिया था
Photo Courtesy : Mid-day

नई दिल्ली। ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के खिलाफ खेली गई सीरीज़ में अपने शानदार प्रदर्शन से दिल जितने वाले ऋषभ पंत को लेकर सुरेश रैना ने टिप्पणी की है। भारतीय टीम के पूर्व क्रिकेटर ने हिन्दुस्तान टाइम्स को दिए अपने इंटरव्यू में कहा है कि कुछ दिनों पहले तक ऋषभ पंत को लोगों ने मंदिर का घंटा समझ लिया था। जिसे मन करता था वो पंत को बजा कर चला जाता था। लेकिन आज पंत ने अपने प्रदर्शन से हालात बदल दिए हैं। 

पंत को सपोर्ट करने की है ज़रूरत 
रैना ने पंत की बल्लेबाज़ी शैली की तारीफ़ करते हुए कहा कि ऑस्ट्रेलिया दौरे पर पंत को देखकर ऐसा लग रहा था कि जैसे वो हर गेंद को हिट करना चाहते हों। इंग्लैंड के खिलाफ खेली गई घरेलु सीरीज़ में भी वे जैक लीच को इसी अंदाज़ में खेलने की कोशिश कर रहे थे। रैना ने कहा कि जब टीम में आपके पास पंत जैसा एक ऐसा बल्लेबाज़ होता है, जो कि निर्भीकता के साथ अपने शॉट्स खेल सकता है तो आपको उसका सपोर्ट करना चाहिए। 

यह भी पढ़ें : सुलझ गया कोहली और रोहित शर्मा के बीच अरसे से चला आ रहा विवाद, कोच रवि शास्त्री ने थामी बिगड़े रिश्तों की डोर

रैना ने पूर्व वेस्ट इंडियन खिलाड़ी ब्रायन लारा के एक कथन का ज़िक्र करते हुए कहा कि जब ऐसे खिलाड़ियों का समय अच्छा होता है तो वो रन बनाते हैं लेकिन जब उनका समय खराब होता है तो हमें उन खिलाड़ियों द्वारा बनाए गए रनों को ज़हन में रखना चाहिए और समझना चाहिए कि उस खिलाड़ी में कितना दम है।  

यह भी पढ़ें : IPL Flashback: 2008 में पहली बार धरती पर पधारा था मनोरंजन का बाप, बीच मैदान हरभजन ने श्रीसंत को जड़ दिया था थप्पड़

हालांकि सुरेश रैना ने भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली की इस मामले में तारीफ़ भी की। रैना ने कहा कि कोहली ने पंत को बैक भी किया है। फ़िलहाल पिछली सीरीज़ में उम्दा प्रदर्शन करने के बाद ऋषभ पंत का आत्मविश्वास अभी सातवें आसमान पर है। आईपीएल के आगामी सीज़न से पहले श्रेयस अय्यर के चोटिल हो जाने के कारण इस मर्तबा कप्तानी की ज़िम्मेदारी भी ऋषभ पंत को ही मिली है।