भारतीय मूल की स्पेस साइंटिस्ट भाव्या लाल बनीं NASA की कार्यकारी अध्यक्ष

इंजीनियरिंग और स्पेस टैक्नोलॉजी में महारत रखने वाली भारतीय मूल की भाव्या लाल को NASA ने चुना कार्यकारी अध्यक्ष, बजट और फाइनेंस पर सीनियर एडवाइजर की जिम्मेदारी

Updated: Feb 02, 2021, 04:07 PM IST

भारतीय मूल की स्पेस साइंटिस्ट भाव्या लाल बनीं NASA की कार्यकारी अध्यक्ष
Photo Courtesy: Twitter/@SpaceWatchGL

जबसे अमेरिका में सत्ता परिवर्तन हुआ है और जो बाइडेन और कमला हैरिस राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति का पद पर आसीन हुए हैं, तब से अमेरिका में भारतीय मूल के लोगों का बोलबाला बढ़ा है। अब यूएस में बड़े और जिम्मेदार पदों पर भारतीय मूल के लोगों की नियुक्तियों का रास्ता खुल गया है। इसी कड़ी में भारतीय मूल की भाव्या लाल को अंतरिक्ष एजेंसी नासा का कार्यकारी प्रमुख बनाया गया है।

भव्या लाल नासा से लंबे वक्त से जुड़ी रही हैं और कई महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट्स का हिस्सा रह चुकी हैं। नासा की ओर से जारी बयान में भव्या लाल को बेहद काबिल और कर्मठ कर्मचारी कहा गया है। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने भाव्या लाल की नियुक्ति नासा के कार्यकारी प्रमुख के रुप में की है। वे नासा में बजट और फाइनेंस पर सीनियर एडवाइजर के तौर पर भी कार्य करेंगी।

गौरतलब है कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन की टीम में इंडियन ओरिजन के 20 एक्सपर्ट्स को पहले ही शामिल किया जा चुका है। भव्या लाल नासा के लिए जो बाइडेन प्रेसिडेंशियल ट्रांजिशन एजेंसी रिव्यू टीम की सदस्य रह चुकी हैं। वे बाइडेन प्रशासन में एजेंसी के ट्रांजिशन पर नजर रखती थी। गौरतलब है कि भव्या 2005 से 2020 तक साइंस एंड टेक्नोलॉजी पॉलिसी इंस्टीट्यूट (STPI) के डिफेंस एनालिसिस विंग में मेंबर और रिसर्चर के तौर पर काम कर चुकी हैं।

भव्या स्पेस टेक्नोलॉजी और पॉलिसी कम्यूनिटी की एक्टिव मेंबर हैं। वे न्यूक्लियर एंड एमर्जिंग टेक्नोलॉजीज इन स्पेस पर अमेरिकन न्यूक्लियर सोसाइटी के वार्षिक सम्मेलन में पॉलिसी ट्रैक की सह-अध्यक्ष हैं। वे स्मिथसोनियन नेशनल एयर एंड स्पेस म्यूजियम के साथ स्पेस हिस्ट्री और पॉलिसी पर कई सेमिनार सीरीज का आयोजन कर चुकी हैं। वे 50 से ज्यादा पेपर्स पब्लिश कर चुकी हैं। वे पांच बार नेशनल अकादमी ऑफ साइंसिज, इंजीनियरिंग और मेडिसिन (NASEM) कमेटी में भी काम कर चुकी हैं।

भाव्या ने MIT याने मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से न्यूक्लियर इंजीनियरिंग में बैचलर्स और मास्टर ऑफ साइंस की डिग्री हासिल की है। साथ ही जॉर्ज वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी से पब्लिक पॉलिसी एंड पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन में डॉक्टरेट किया है।