क्या केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के साथ एमपी में हुआ ऑनलाइन फ्राड ...

एमपी की ऐसी अनेक खबरों के लिए सुनें हम समवेत की ख़ास पेशकश समाचार सारांश

Updated: Oct 08, 2021, 08:25 AM IST

अब अलग अलग अखबार पढ़ने से मुक्ति। हम समवेत के 'समाचार सारांश' में सुनिए एमपी के अखबारों में छपी खबरें एक साथ। यहां आपको मिलेगी वो खबरें जो आपके लिए जानना महत्वपूर्ण हैं।

लोकार्पण के 21 दिन बाद ही सड़क पर चलना दूभर

जिस सड़क का लोकार्पण करने 21 दिन पहले केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी इंदौर आए थे, उस सड़क पर आज चलना भी दूभर है। राजधानी भोपाल को राजस्थान से जोड़ने वाले जयपुर-जबलपुर नेशनल हाइवे के भोपाल-ब्यावरा फोरलेन बारिश के बाद पगडंडियों सी हो गई। अधिकारियों ने सच्चाई छुपाकर पीठ थपथपवाई थी।


ऊर्जा मंत्री की चौपाल में जनरेटर से उजाला

अशोकनगर में ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्नसिंह तोमर की आदिवासी बस्ती में लगी चौपाल में जनरेटर से उजाला किया गया। चौपाल में ग्रामीणों की शिकायत थी कि यहां बिजली नहीं सिर्फ बिल आते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत कराने पंचायत सचिव 20-20 हजार सुबह रुपए मांगता है। 


बीजेपी में खुल कर दिखी नाराजगी 
खंडवा लोकसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार ज्ञानेश्वर पाटिल के नामांकन कार्यक्रम में इसी सीट से दावेदार रहे स्व. नंदकुमार सिंह चौहान के बेटे हर्ष नहीं पहुंचे। पाटिल उन्हें बुलाने घर भी गए, लेकिन हर्ष नहीं आए। पूर्व मंत्री अर्चना चिटनीस जरूर शामिल हुई। यही स्थिति सतना जिले की रैगांव सीट की भी रही। जबकि खंडवा में कांग्रेस के टिकट दावेदार नेता एक साथ दिखाई दिए।