लोक शिक्षण संचालनालय का असिस्टेंट डायरेक्टर 50 हजार की रिश्वत लेते गिरफ्तार, एंटी करप्शन ब्यूरो की कार्रवाई

रायपुर के लोक शिक्षण संचालनालय दफ्तर में ACB का एक्शन, असिस्टेंट डायरेक्टर को 50 हजार लेते रंगे हाथ पकड़ा, शिक्षक के पदांकन याने नोटेशन में बदलाव की एवज में ले रहा था रकम

Publish: Jul 23, 2021, 05:03 PM IST

लोक शिक्षण संचालनालय का असिस्टेंट डायरेक्टर 50 हजार की रिश्वत लेते गिरफ्तार, एंटी करप्शन ब्यूरो की कार्रवाई
Photo Courtesy: Patrika

रायपुर। छत्तीसगढ़ में ACB ने रायपुर स्थित लोक शिक्षण संचालनालय के असिस्टेंट डायरेक्टर को 50 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। इन पर एक शिक्षक के पदांकन याने नोटेशन में परिवर्तन करने के नाम पर रिश्वत लेने का आरोप है। असिस्टेंट डायरेक्टर फरियादी शिक्षक का काम करने में टाला मटोली कर रहा था। उसने 50 हजार रुपए की मांग की जिसकी शिकायत फरियादी शिक्षक में एंटी करप्शन ब्यूरो में कर दी। जिसके बाद पूरी प्लानिंग के साथ ACB ने आरोपी अफसर को उनके ही दफ्तर में घूस लेते गिरफ्तार किया है।

इससे पहले भी असिस्टेंट डायरेक्टर डॉक्टर निर्मल कुमार अग्रवाल के खिलाफ शिकायतें मिल रही थीं। एंटी करप्शन ब्यूरो ने एक्शन लेते हुए अफसर को दबोच लिया है। ACB को असिस्टेंट डायरेक्टर के पास से 50 हजार रुपए मिले हैं।  जो की उन्होंने अपने पदांकन में चेंज करने के बदले मांगे थे। शिकायत मिलने पर एंटी करप्शन ब्योरो ने रायपुर के पेंशनबाड़ा पर छापामार कार्रवाई की और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। एंटी करप्शन ब्यूरो ने केस दर्ज कर लिया है, आगे की कार्रवाई जारी है। आरोपी अफसर ने खुद को फंसाए जाने का आरोप लगाया है।   

प्रदेश में ACB लगातार एक्शन मोड पर है, कुछ दिनों पहले उसने अपने ही पूर्व चीफ के यहां छापा मार कार्रवाई की थी। जिसके बाद IPS अधिकारी गुरजिंदर पाल सिंह को निलंबित कर दिया गया था। छत्तीसगढ़ के निलंबित IPS जीपी सिंह अपने पद के दुरुपयोग, आय से अधिक संपत्ति, राष्ट्रद्रोह समेत कई मामले दर्ज किए हैं। निलंबित जीपी सिंह ने हाई कोर्ट में याचिका लगाकर ACB और EOW के साथ ही राजद्रोह के केस को चुनौती देते हुए अपने केस की जांच CBI से कराने की मांग की है। छत्तीसगढ़ के अलावा ओडिशा समेत जीपी सिंह के 15 से ज्यादा ठिकानों पर छापे मारे गए थे।