CM Bhupesh Baghel: राम वन गमन पथ की थ्रीडी तस्वीरें जारी

Chhattisgarh: पग-पग पर होंगे श्रद्धालुओं को भगवान श्रीराम के दर्शन, प्रवेश द्वार से लेकर लैंपपोस्ट तक सब कुछ होगा राममय

Updated: Aug 06, 2020 08:29 PM IST

CM Bhupesh Baghel:  राम वन गमन पथ की थ्रीडी तस्वीरें जारी

रायपुर। बुधवार को अयोध्या में राम मंदिर का शिलान्यास होने के बाद छत्तीसगढ़ सरकार ने राम वन गमन पथ की थ्रीडी तस्वीरें जारी की है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बताया है कि इस पथ का विकास एवं सौंदर्यीकरण का काम इसी महीने शुरू हो जाएगा। 137 करोड़ 75 लाख रुपए की कुल लागत वाले इस पथ की लंबाई लगभग 2260 किलोमीटर है।

बताया जा रहा है कि इस प्रोजेक्ट में लगभग 1400 किलोमीटर सड़कों के दोनों ओर वृक्षारोपण किया जाएगा। इसकी शुरुआत रायपुर के चंदखुरी के माता कौशल्या मंदिर से होगी और कोरिया जिले सुकमा तक यह पथ बनाया जाएगा। मुख्यमंत्री के आधिकारिक ट्वीटर एकाउंट से जारी तस्वीरें उन जगहों की हैं जहां सर्किट हाउस बनाया जा रहा है। सीएम बघेल ने ट्वीट कर कहा, 'राम वन गमन पथ के विकास एवं सौंदर्यीकरण के लिए इसी महीने होगा काम शुरु पथ पर पग-पग पर होंगे श्रद्धालुओं को भगवान श्रीराम के दर्शन प्रवेश द्वार से लेकर लैंपपोस्ट तक सब कुछ होगा राम मय। आप सब भी देखें, कुछ ऐसा होगा प्रभु राम के ननिहाल छत्तीसगढ़ में राम वन गमन पथ, जिसमें पग-पग पर होंगे श्रद्धालुओं को भगवान श्रीराम के दर्शन।' 

रामायण के मुताबिक भगवान राम ने वनवास का वक्त दंडकारण्य में बिताया था। छत्तीसगढ़ का एक बड़ा हिस्सा प्राचीन समय का दंडकारण्य माना जाता है। अब उन जगहों को नई सुविधाओं के साथ विकसित किया जा रहा है, जिन्हें लेकर यह दावा किया जाता है कि वनवास के वक्त भगवान यहीं रहे। अब इन जगहों को जोड़ते हुए जो राम वन गमन पथ बनाया जाएगा उसमें लोगों को कदम-कदम पर प्रभु राम के दर्शन होंगे।

रास्तें में सभी जगहों पर लैंड स्केपिंग, प्री-कास्ट, फेब्रीकेशन वर्क और गेट पर भगवान राम का धनुष तीर होगा। इसमें राम के झंडे लगने के साथ ही प्राचीन लुक के लैंपोस्ट भी होंगे। प्रोजेक्ट में जगह-जगह पर लोगों के लिए खाने-पीने और अन्य व्यवस्थाएं की गई है। इस योजना से प्रदेश में टूरिज्म की संभावनाओं में वृद्धि होगी।