रायपुर अनलॉक होते ही बाजारों में किया गया कोरोना टेस्टिंग, 100 फीसदी लोगों की रिपोर्ट आई नेगेटिव

रायपुर के गोलाबाजार और मालवीय रोड पर बाजारों और घरों में रैंडम सैंपलिंग की गई, 550 लोगों का हुआ टेस्ट, जिला चिकित्सा अधिकारी ने सभी की रिपोर्ट नेगेटिव आने की पुष्टि की

Updated: May 28, 2021, 08:13 PM IST

रायपुर अनलॉक होते ही बाजारों में किया गया कोरोना टेस्टिंग, 100 फीसदी लोगों की रिपोर्ट आई नेगेटिव
Photo courtesy: news 18

रायपुर। प्रदेश में कोरोना पर कुछ हद तक काबू आने के बाद अब कम संक्रमण वाले जिलों में अनलॉक की प्रक्रिया धीरे-धीरे जारी है। पॉजिटीविटी रेट 4 फीसदी होने के बाद अब राहत दी जाने लगी है। इसी कड़ी में रायपुर समेत 8 जिलों में बाजार खुल गए हैं। रायपुर के सबसे ज्यादा संक्रमित इलाकों में प्रदेश सरकार की ओर मार्केट में ही कोरोना टेस्ट करने की सुविधा दी गई है।

शुक्रवार को रायपुर के व्यस्त इलाकों गोलबाजार और मालवीय रोड में रैंडम कोरोना टेस्ट किया गया। यहां एंजीजन टेस्ट किया गया। इलाकों के दुकानदारों के साथ-साथ वहां काम करने वाले वर्केर्स, ग्राहकों समेत 550 लोगों के सैंपल लिया गया। सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है।

इस बात की पुष्टि जिला चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर मीरा बघेल ने की है, उन्होंने बताया कि पहले गोलबाजार और मालवीय रोड इलाकों से सबसे ज्यादा मरीज मिले थे। यही वजह थी कि अनलाक होते ही इलाकों में रैंडम कोरोना टेस्टिंग की गई। राहत की बात रही कि सभी 550 कोरोना सैंपल्स की रिपोर्ट निगेटिव आई है। वहीं जब कोरोना संक्रमण अपने चरम पर था तब एक हजार मरीजों में करीब 300 से ज्यादा संक्रमित मरीज मिलते रहे हैं।

रायपुर के अलावा जशपुर, दुर्ग, बिलासपुर, महासमुंद, धमतरी, बेमतरा, बालोद के साथ राजनांदगांव में बाजार खुल गए हैं। अनलॉक की प्रक्रिया नई गाइडलाइन के हिसाब से हो रही है। इन जिलों में बाजार शाम 6 बजे तक इवन ऑड पैटर्न पर खुले रहे। रविवार को टोटल लॉकडाउन रहेगा। बाजार के अलावा अन्य सार्वजिनक स्थल सिनेमा हॉल, मल्टीप्लेक्स को बंद ही रखा गया है।

वहीं छत्तीसगढ़ में वैक्सीनेशन का काम भी जोरों पर है, यहां 18 प्लस के वैक्सीनेशन 6 प्रतिशत कवरेज दर है। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री का कहना है कि प्रदेश को कम टीके मिले हैं। फिर भी प्रदेश में राष्ट्रीय औसत से ज्यादा टीके लगाए जा रहे हैं। राष्ट्रीय औसत 2 प्रतिशत है। सरकार का मानना है कि अगर पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन मिलती है तो छत्तीसगढ़ में वैक्सीनेशन में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी जाएगी।

राज्य में अब तक कुल 69 लाख 79 हजार 740 लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाई जा चुकी है। दर असल प्रदेश में पॉजिटिविटी रेट में कमी आती जा रही है। बीते 24 घंटों में 4.3 प्रतिशत पॉजिटिविटी रेट था।  

बीते दिनों प्रदेश सरकार पर कोरोना टीके की बरबादी का आरोप लगा था, जिसे प्रदेश सरकार ने सिरे से नकार दिया था। छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री ने केंद्र को लिखे पत्र में कहा था कि प्रदेश में 1 प्रतिशत से भी कम वेस्टेज हुआ है।