CRPF के डिप्टी कमांडेंट विकास कुमार शहीद, सुकमा के IED ब्लास्ट में हुए थे घायल

आज सुबह उपचार के दौरान विकास कुमार ने अंतिम सांस ली, विकास सीआरपीएफ की 208वीं बटालियन में तैनात थे

Updated: Dec 14, 2020, 10:23 PM IST

CRPF के डिप्टी कमांडेंट विकास कुमार शहीद, सुकमा के IED ब्लास्ट में हुए थे घायल
Photo Courtesy: Zee News

सुकमा। छत्तीसगढ़ के सुकमा में IED (इंप्रोवाइस एक्सप्लोसिव डिवाइस) धमाके में घायल हुए सीआरपीएफ कोबरा बटालियन के डिप्टी कमांडेंट विकास कुमार शहीद हो गए। रविवार को उन्हें गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया था। रायपुर के एक प्राइवेट अस्पताल में विकास का इलाज चल रहा था। बताया जा रहा है कि विकास 208वीं बटालियन में तैनात थे और रविवार को अपनी टीम के साथ सर्च ऑपरेशन पर निकले थे।

जानकारी के मुताबिक, घटना रविवार सुबह 10.40 बजे के आसपास पलोड़ी और किस्टाराम गांवों के बीच हुई। सर्च ऑपरेशन के दौरान सीआरपीएफ के जवानों को नक्सलियों द्वारा लगाया गया आईइडी दिखा। इसे नक्सलियों ने जवानों पर अटैक के मकसद से प्लांट किया था। जब जवान इसे डिफ्यूज करने में लगे हुए थे, तभी जमीन के नीचे रखा आईइडी अचानक फट गया। इस दौरान विकास इसकी चपेट में आकर गंभीर रूप से घायल हुए थे। उन्हें वहां मौजूद साथी जवानों ने तुरंत रेस्क्यू कर कैंप में लाया और फिर उन्हें हेलीकॉप्टर के जरिए तत्काल उपचार के लिए रायपुर लाया गया था। यहां आज सुबह उपचार के दौरान उन्होंने अंतिम सांस ली।

बता दें कि पिछले 29 नवंबर को भी सूकमा में आईइडी की चपेट में आकर सीआरपीएफ का एक जवान शहीद हो गया था। जानकारी के मुताबिक, कोबरा 206 के जवान सुकमा के ताड़मेटला में सीआरपीएफ की पांच नई बटालियनों के शिविर लगाने के लिए इलाके का निरीक्षण कर रहे थे। इसी दौरान नक्सलियों के लगाए आईइडी विस्फोट हो गया। जिसमें 206वीं कोबरा बटालियन के असिस्टेंट कमांडेंट 33 वर्षीय नितिन पी भालेराव शहीद हो गए और 10 जवान घायल हो गए थे।