छत्तीसगढ़ में नक्सलियों ने मोबाइल टावर में लगाई आग, नक्सल ऑपरेशन के विरोध में फेंके पर्चे, रास्ता रोकने की कोशिश की

नक्सलियों ने पर्चों में ग्रामीणों से अपील की है कि वे इस अघोषित युद्ध के खिलाफ सड़कों पर उतरें, और सेना की तैनाती का पुरजोर विरोध करें,

Updated: Apr 26, 2021, 08:52 PM IST

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों ने मोबाइल टावर में लगाई आग, नक्सल ऑपरेशन के विरोध में फेंके पर्चे, रास्ता रोकने की कोशिश की
Photo courtesy: Bhaskar

रायपुर। छत्तीसगढ़ में नक्सल उन्मूलन के लिए ऑपरेशन प्रहार चलाया जा रहा है। जिसके विरोध में सोमवार को नक्सलियों ने भारत बंद का आह्वान किया था। सोमवार को प्रदेश के नक्सल प्रभावित जिलों में नक्सलियों ने जमकर उत्पात मचाया। सुकमा और कांकेर में नक्सलियों ने पेड़ काटे, और मुख्यमार्ग में आवागमन बाधित करने की कोशिश की। इस दौरान आम जनता और स्वास्थ्य विभाग के टीकाकरण अमले को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा।

नक्सलियों ने कांकेर में पीड़ापाल स्थित मोबाइल टावर पर लगी मशीनों को आग लगा दी। वहीं महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में कई वाहनों को फूंक दिया। उत्पाती नक्सलियों ने मालेवाही कैंप और बोदली थाने के पास पटाखे फोड़े। पंखाजूर में कई जगहों में नक्सलियों ने बैनर-पोस्टर फेंके और ऑपरेशन प्रहार के खिलाफ विरोध जताया। नक्सलियों की मांग है कि सेना को जल्द से जल्द हटाया जाए।बैनर-पोस्टर नक्सलियों से अपील की है कि वे इस अघोषित युद्ध के खिलाफ सड़कों पर उतरे। और दंडकारण्य में सेना की तैनाती का पुरजोर विरोध करें।

गौरतलब है कि बीजापुर में पिछले सप्ताह अगवा किए गए CAF के SI मुरली ताती की हत्या की थी और अगले दिन उसका शव सड़क पर फेंक दिया कर चले गए थे। रविवार को नक्सलियों ने सुकमा के कोंटा में सड़क निर्माण में लगे सात गाड़ियों में आग लगा दी थी।