Bigbasket: लॉकडाउन में दो दिन में खोए 80 फीसदी कर्मचारी

अब एक बार फिर पटरी पर ऑनलाइन ग्रॉसरी स्टोर, 16 दिनों में लौटे 12 हज़ार कर्मचारी, बिग बास्केट ने कहा ज़िम्मेदार बनें

Updated: Nov 30, 2020, 11:52 AM IST

Bigbasket: लॉकडाउन में दो दिन में खोए 80 फीसदी कर्मचारी
Photo Courtesy: fugenx.com

नई दिल्ली। कोरोना जनित परिस्थियों के कारण लगे लॉकडाउन ने कई कंपनियों की हालत खराब कर दी। बिगबास्केट भी लॉकडाउन की इस मार से अछूता नहीं रहा था। लॉकडाउन लागू होने के केवल दो दिनों के भीतर बिगबास्केट ने 80 फीसदी तक अपनी श्रम शक्ति गंवा दी थी। इस बात का खुलासा खुद कंपनी के सीईओ हरि मेनन ने किया है। हालांकि मेनन ने यह भी बताया कि जल्द ही कंपनी पटरी पर लौट आई और केवल 16 दिनों के भीतर कंपनी ने 12 हज़ार लोगों को काम पर रख लिया।  

हरि मेनन ने अपने एक बयान में कहा है कि, 'दो दिनों के लिए 80 प्रतिशत कर्मचारियों की संख्या कम होने के बाद, हम वास्तव में परेशान थे, क्योंकि आर्डर मिलना जारी था। हमने 16 दिन में 12,300 लोगों को काम पर रखा, इसके माध्यम से हमने अपनी जिजीविषा की शक्ति का प्रदर्शन किया।' बिगबास्केट के सीईओ मेनन ईशा इनसाइट: द डीएनए ऑफ सक्सेस नामक कार्यक्रम में बोल रहे थे। 

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मेनन ने कहा, 'किसी भी संगठन को सीखने वाला संगठन बनने की आवश्यकता है और बिग बास्केट में हमने सबसे पहला काम उत्कृष्ट प्रशिक्षण और नवाचार को स्थापित करने का किया' मेनन ने उनकी स्पीच सुन रहे लोगों से अपने अनुभव साझा करते हुए कहा कि मनुष्य को यह महसूस करना होगा कि केवल जागरूक और जिम्मेदार कार्रवाई के साथ ही हम इस महामारी से उबर सकते हैं।