SP Balasubramaniam Dies: सिंगर एसपी बालासुब्रमण्यम का कोरोना से निधन

SP Balasubramaniam: 74 साल की उम्र में ली आखिरी सांस, एक महीने से चल रहा था कोरोना का इलाज

Updated: Sep-25, 2020, 05:48 PM IST

SP Balasubramaniam Dies: सिंगर एसपी बालासुब्रमण्यम का कोरोना से निधन

बालीवुड के मशहूर गायक एसपी बालासुब्रमण्यम का कोरोना के चलते निधन हो गया है। वे एक महीने से चेन्नई के 'एमजीएम हेल्थकेयर' अस्पताल में भर्ती थे। एसपी बाला सुब्रमन्यम ने शुक्रवार दोपहर 1 बजकर 4 मिनट इस दुनिया को अलविदा कह दिया। गुरुवार से वे वेंटीलेटर पर थे। उनके निधन पर कई फिल्मी हस्तियों ने शोक जताया है। आपको बता दें कि पिछले 5 अगस्त को उन्हे कोरोना संक्रमण की वजह से अस्पताल में ऐडमिट किया गया था। तब उन्होंने एक वीडियो के माध्यम से बताया था कि उनमें कोरोना के कोई खास लक्षण नहीं हैं।

संगीतकार एआर रहमान ने एसपी बालासुब्रमण्यम के निधन पर शोक जताया है, उनकी आत्मा की शांति की प्रर्थना की है, और सोशल मीडिया पर उनकी एक तस्वीर शेयर की है।

 

 

एसपी बालासुब्रमण्यम को भारतीय ग्रैडमास्टर विश्वनाथन आनंद ने श्रद्धांजलि देते हुए तीन दशक पुरानी घटना को याद किया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि ‘ऐसे महान और सरल व्यक्ति के निधन के बारे में सुनकर दुखी हूं। वो मेरे पहले प्रायोजक थे उन्होंने 1983 में राष्ट्रीय टीम चैंपियनशिप में हमारी टीम चेन्नई कोल्ट्स को स्पॉन्सर किया था. वो सबसे अच्छे व्यक्तियों में से एक थे, जिनसे मैं मिला हूं। उनके संगीत ने हमें बेहद आनंदित किया’

 

 

सलमान की आवाज कहे जाते थे एसपी बालासुब्रमण्यम

90 के दशक में सलमान खान के करियर के शुरुआती दौर के अधिकतर गाने एस पी बालासुब्रमण्यम ने ही गाए थे। उनकी आवाज साउथ सुपरस्टार कमल हासन   पर भी बिल्कुल फिट बैठती थी। सलमान खान की फिल्म मैंने प्यार किया के गाने 'आजा शाम होने आई' से लेकर 'मेरे रंग में रंगने वाली' तक इन गानों को आवाज एसपी बाला सुब्रह्मण्यम ने ही दी थी। उनकी आवाज सलमान पर इतनी सूट करती थी कि लोग उन्हें सलमान की आवाज कहने लगे थे। वह करीब 2 दशक सिंगिंग से दूर रहने के बाद 'चेन्नई एक्सप्रेस' से वापस आए थे। उन्होंने फिल्म का टाइटल ट्रैक गाया था।

16 भारतीय भाषाओं में लगभग 40 हजार गाने गए

16 भारतीय भाषाओं में लगभग 40 हजार से ज्यादा गाने गाने वाले एसपी बाला सुब्रह्मण्यम को पद्मश्री (2001) और पद्मभूषण (2011) से सम्मानित किया जा चुका है। वे सिंगर, एक्टर, डायेक्टर और एक बेहतरीन डबिंग आर्टिस्ट भी रहे हैं। उन्होंने तेलुगू, तमिल, कन्नड़, हिंदी और मलयालम जैसी कई भाषाओं में काम किया है। एसपी बालासुब्रमण्यम ने मई में कोरोना वॉरियर्स को समर्पित वन नेशन वन वॉइस के तहत एक ऐंथम सांग में 100 सिंगर्स के साथ गाना गया था। वह ऐंथम कोरोना वॉरियर्स को समर्पित था।