MP: खाद-बीज के 22 मुनाफाखोरों के खिलाफ FIR

Agriculture News: 71 विक्रेताओं के लाइसेंस निलंबित, 50 के लाइसेंस निरस्त,किसानों के साथ धोखाधड़ी पर होगी रासुका के तहत कार्रवाई

Updated: Aug-06, 2020, 07:42 PM IST

MP:  खाद-बीज के 22 मुनाफाखोरों के खिलाफ FIR
photo courtesy : patrika

भोपाल। खाद-बीज मुनाफाखोरों पर कार्रवाई के क्रम में गुरुवार को मध्य प्रदेश में खाद-बीज के 71 विक्रेताओं के लाइसेंस निलंबित किए गए हैं। 50 लायसेंस निरस्त करने के आदेश दिए गए हैं। खाद-बीज के मुनाफाखोरों और गड़बड़ी करने वाले विक्रेताओं पर अब तक 22 एफआईआर दर्ज हुई है।

कृषि मंत्री कमल पटेल ने बताया कि उनकी माँग पर केन्द्र से राज्य को एक लाख मीट्रिक टन से अधिक यूरिया उपलब्ध कराया जा चुका है। खाद समय पर और वाजिब दामों पर किसानों को मिलता रहे, इसके लिए कृषि विभाग का अमला स्टॉक लिमिट, निर्धारित दर से ज्यादा बेचने, मिलावटखोरों सहित अवैध रूप से खाद का विक्रय करने वालों के खिलाफ अभियान चला रहा है।

किसानों के साथ धोखाधड़ी करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा

कृषि मंत्री कमल पटेल ने फिर दोहराया है कि किसानों के साथ धोखाधड़ी करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। ऐसे तत्वों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत भी कार्रवाई की जाएगी। प्रशासन की सक्रियता से किसानों को आसानी से उचित मूल्य पर खाद बीज उपलब्ध करवाया जा रहा है। कृषि मंत्री कमल पटेल गड़बड़ी पकड़ में आने पर कोई रियायत नहीं बरत रहे हैं।