रोज़गार पोर्टल पर 33 लाख बेरोजगार हैं रजिस्टर्ड, सिर्फ 16 हजार को ही रोजगार दे पाए शिवराज

प्रदेश में नौ महीने से बंद पड़ी हैं रोजगार की प्रमुख योजनाएं, प्रदेश के शिक्षित युवाओं पर बढ़ा बेरोजगारी का संकट, रजिस्टर्ड बेरोज़गारों में से आधे से भी कम को मिली नौकरी

Updated: Sep 16, 2021, 04:44 PM IST

रोज़गार पोर्टल पर 33 लाख बेरोजगार हैं रजिस्टर्ड, सिर्फ 16 हजार को ही रोजगार दे पाए शिवराज
प्रतीकात्मक तस्वीर

भोपाल। मध्य प्रदेश शासन के रोजगार पंजीयन पोर्टल पर करीब 33 लाख युवा रजिस्टर्ड हैं। इनमें से केवल 16 हजार गुवाओं को ही रोजगार मिल पाया है। इतनी बड़ी तादाद में बेरोजगार युवाओं की मौजूदगी परेशानी का सबब बन गई है। प्रदेश के लाखों शिक्षित युवा नौकरी के लिए दर दर भटकने पर मजबूर हो गए हैं। 

 हिंदी के एक प्रमुख अखबार ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि इस समय रोजगार पंजीयन पोर्टल पर 32 लाख 82 हजार 919 बेरोजगार युवा रजिस्टर्ड हैं। इनमें से 16 हजार 102 युवाओं को ही रोजगार मिल पाया है।एक तरफ जहां युवाओं पर बेरोजगारी का संकट बढ़ रहा है तो वहीं दूसरी तरफ राज्य सरकार द्वारा उन्हें रोजगार के अवसर प्राप्त करने हेतु संचालित की जाने वाली प्रमुख योजनाएं पिछले नौ महीने से बंद पड़ी हुई हैं। जिस वजह से प्रदेश के युवा वर्ग में राज्य सरकार के प्रति आक्रोश बढ़ रहा है।

मुख्यमंत्री युवा एवं कृषक योजना, मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना और मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना को पिछले वर्ष दिसंबर में बंद कर दिया गया। इन योजनाओं के ज़रिए युवा उद्यमी मार्जिन मनी सहायता व ब्याज अनुदान प्राप्त कर रहे थे। लेकिन प्रदेश के अधिकतर युवा अब बेरोज़गारी की चपेट में हैं। 

वहीं दूसरी तरफ प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड ने हाल ही में यह घोषणा की है कि वह दिसंबर महीने तक प्रमुख परीक्षाओं का आयोजन नहीं कराएगा। यानी प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड द्वारा आयोजित की जाने वाली परीक्षाओं का इंतजार कर रहे युवाओं को अब इस साल की समाप्ति तक इंतजार करना होगा। इस वजह से प्रदेश के करीब ढाई लाख युवाओं के ओवरएज होने की आशंका जताई जा रही है। 

मध्य प्रदेश कांग्रेस ने इसको लेकर शिवराज सरकार पर हमला भी बोला है। कांग्रेस ने कहा है कि एक तरफ प्रदेश के युवा बेरोजगारी से मर रहा है तो वहीं मुख्यमंत्री केवल घोषणाबाजी में व्यस्त हैं। एमपी कांग्रेस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया, मप्र के युवाओं पर रोज़गार का संकट,250000 युवा दिसंबर तक ओवरएज होंगे; शिवराज जी,बेरोज़गारी से युवा मर रहा है, 
और आप घोषणाबाजी कर रहे हो?