पीपुल्स अखबार और यूनिवर्सिटी के दफ्तरों में ED की रेड, 50 गाड़ियों से आई टीम ले रही है तलाशी

विदेशी फंडिंग के आरोप में डॉक्यूमेंट्स खंगाल रही है ED की टीम, सरकारी दावों की पोल खोलने के लिए जाना जाता है पीपुल्स अखबार

Updated: May 26, 2022, 03:50 PM IST

पीपुल्स अखबार और यूनिवर्सिटी के दफ्तरों में ED की रेड, 50 गाड़ियों से आई टीम ले रही है तलाशी

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से बड़ी खबर सामने आ रही है। ED ने पीपुल्स ग्रुप के कई ठिकानों पर गुरुवार सुबह बड़ी छापेमारी की कार्रवाई की है। बताया जा रहा है कि इस दौरान ईडी के अधिकारियों की टीम पीपुल्स समाचार (न्यूज पेपर) के कार्यालय और कालेज के साथ-साथ अन्य ठिकानों पर तलाशी ले रही है।

शुरुआती जानकारी के मुताबिक ईडी की टीम विदेशी फंडिंग के आरोप में ग्रुप के सभी कार्यालयों से डॉक्यूमेंट्स खंगाल रही है। बताया जा रहा है कि 50 गाड़ियों से आई ईडी की टीम ने गुरुवार सुबह 6 बजे के आसपास पीपुल्स ग्रुप के सभी दफ्तरों पर छापा मारने के लिए पहुंची। एक टीम मालवीय नगर स्थिति  पीपुल्स समाचार (न्यूज पेपर) के दफ्तर पर छापेमार कार्रवाई कर रही है। वहीं दूसरी टीम पीपुल्स कॉलेज और तीसरी टीम  पीपुल्स अस्पताल पर मौजूद है। इसके अलावा दो टीमें  ग्रुप के अन्य ठिकानों पर सर्चिंग कर रही हैं।

यह भी पढ़ें: भोपाल: राज्य शूटिंग अकादमी में चोरी, सीसीटीवी फुटेज से छेड़छाड़, जांच में जुटी पुलिस

बता दें कि पीपुल्स ग्रुप मध्यप्रदेश का बड़ा कोरोबारी समूह है। खास तौर पर मेडिकल और मीडिया के क्षेत्र में पीपुल्स ने अलग पहचान बनाई है। इस ग्रुप के तीन मेडिकल कॉलेज पीपुल्स मेडीकल कॉलेज, पीपुल्स डेंटल कॉलेज, पीपुल्स कॉलेज ऑफ नर्सिग एवं पैरामेडिकल कॉलेज हैं। इसके अलावा पीपुल्स मीडिया शिक्षा के क्षेत्र में भी अपनी सेवाएं देता है। पीपुल्स समाचार पत्र भोपाल, इंदौर के अलावा मुंबई-दिल्ली और अन्य कई शहरों से प्रकाशित होता है। यह समाचार पत्र खोजी पत्रकारिता और सरकारी दावों की पोल खोलने के लिए जाना जाता है।