Chhatarpur: छपरा गांव में 20 साल से नहीं बनी सड़क

BJP Govt: बीजेपी के राज में दलदल बनीं सड़कें, छपरा गांव में 20 साल से नहीं बनी सड़क, ग्रामीणों का जीना हुआ दुश्वार

Updated: Aug-21, 2020, 02:32 AM IST

Chhatarpur: छपरा गांव में 20 साल से नहीं बनी सड़क

छतरपुर। चंदला थाना इलाके की ग्राम पंचायत माधवपुर में ग्रामीण नरकीय जीवन जीने को मजबूर हैं। यहां के छपरा गांव में पक्की सड़क नहीं है। बारिश के दिनों में ग्रामीणों का जीना मुहाल हो रहा है। फिसलन भरी गलियों में जान जोखिम में डालकर ग्रामीण रास्ता पार करते हैं। इन रास्तों पर गाड़ी चलना तो दूर पैदल चलना दूभर हो रहा है।

ग्रामीणों का कहना है कि छपरा ग्राम प्रधान चुनाव जीतते ही लोगों से मुंह मोड लेते हैं। जनप्रतिनिधियों के लिए इलाके का विकास की सिर्फ चुनावी मुद्दा होता है। जनप्रतिनिधि विकास की बात केवल चुनाव के दौरान करते हैं। छपरा गांव के ग्रामीणों का कहना है कि पिछले 20 साल से सडक बनवाने की मांग कर रहे हैं। जिसके लिए उन्होंने गांव के प्रधान से लेकर जनपद सदस्य, जिला सदस्य, विधायक और सांसद तक को अपनी समस्या बताई है। लेकिन किसी भी नेता ने उनकी समस्या का कोई समाधान नहीं किया।  

गौरतलब है कि इस इलाके में ग्राम प्रधान और सचिव नाथूराम यादव और सहायक  सचिव रामनारायण राजपूत की मनमानी जारी है। ये बीजीपी समर्थक हैं। छपरा गांव में सीसी रोड  केवल चंद लोगों के लिए कुछ इलाकों में बनाई गई है। अपनी समस्या के बारे में ग्रामीणों ने लवकुश नगर ब्लॉक के सीईओ एसके मिश्रा को भी कई बार अवगत कराया है। लेकिन किसी भी तरह की कोई मदद ग्रामीणों को नहीं मिल रही है। स्थानीय बीजेपी विधायक राजेश प्रजापति हैं उनसे भी ग्रामीण अपनी समस्या कई बार बता चुके हैं लेकिन समस्या जस की तस है।घर से निकलते ही कीचड़ भरे रास्तों में हादसे का डर बना रहता है।