कांग्रेस MLA की अनोखी पहल, अब एक रुपए में मिलेगा भरपेट भोजन, आज से हाईटेक रसोई की शुरुआत

मध्य प्रदेश के छतरपुर में कांग्रेस विधायक ने गरीबों के लिए खोला हाईटेक होटल, यहां सिर्फ एक रुपए में भरपेट पौष्टिक भोजन करेंगे लोग, चाचा की रसोई से कोई नहीं लौटेगा भूखा

Updated: Oct 16, 2021, 01:13 PM IST

कांग्रेस MLA की अनोखी पहल, अब एक रुपए में मिलेगा भरपेट भोजन, आज से हाईटेक रसोई की शुरुआत
Photo Courtesy: Twitter

छतरपुर। ग्लोबल हंगर रिपोर्ट में भारत की स्थिति को खतरनाक बताया गया है। भुखमरी के मामले में पाकिस्तान, नेपाल और बांग्लादेश तक की स्थिति भारत से अच्छी है। भुखमरी से जूझ रहे भारत के छतरपुर से आज एक बेहद सुकून खबर भी सामने आई है। यहां कांग्रेस विधायक ने गरीब और असहाय लोगों के लिए अपने हाईटेक होटल का दरवाजा हमेशा के लिए खोल दिया।

दरअसल, छत्तरपुर में पज्जन चाचा के नाम से मशहूर कांग्रेस विधायक आलोक चतुर्वेदी ने आज से "चाचा की रसोई" की शुरुआत की है। इस रसोई की खास बात यह है कि यहां 1 रुपए का टोकन लेकर कोई भी गरीब-असहाय व्यक्ति भरपेट भोजन कर सकता है।  पज्जन चाचा ने आज अपने जन्मदिन के मौके पर गरीबों को यह सौगात दिया है। 

यह भी पढ़ें: भुखमरी सूचकांक में पाकिस्तान, बांग्लादेश और नेपाल से भी पीछे भारत, 7 पायदान गिरा नीचे

इस हाईटेक रसोई का निर्माण किशोर सागर तालाब के पास स्थित सेवाग्राम में किया गया है। यह पूरी तरह एसी होटल है और भीतर का माहौल किसी बड़े होटल से कम नहीं है। हम समवेत ने जब आलोक चतुर्वेदी से इस हाईटेक रसोई के संबंध में बातचीत की तो उन्होंने बताया कि कोरोना काल में लोगों की अंतहीन पीड़ा देख वे काफी परेशान रहते थे। चतुर्वेदी ने कहा, 'मैं चाहता हूं मेरे क्षेत्र में कोई भी गरीब भूखा न रहे। इस मकसद से इस रसोई को बनाया गया है।' 

आलोक चतुर्वेदी के पुत्र नितीश चतुर्वेदी ने बताया कि यह रसोई 365 दिन खुलेगी और यहां से किसी भी व्यक्ति को भूखा नहीं लौटाया जाएगा। नीतीश ने एक रुपए वसूलने को लेकर पूछे जाने पर कहा, 'हम लोगों से 1 रुपए इसलिए ले रहे हैं, ताकि उन्हें यह न लगे कि वे मुफ्त में खा रहे हैं। यदि किसी के पास देने के लिए 1 रुपए भी न होंगे तो हम उन्हें भी उतने ही आदर और प्रेम से बैठकर भोजन परोसेंगे।

यह भी पढ़ें: जब धरती पर अधर्म और पाप बढ़ते हैं तो संतो को आगे आना पड़ता है, BJP पापी है: कंप्यूटर बाबा

कांग्रेस विधायक के इस पहल से स्थानीय लोगों में हर्ष का माहौल है। रसोई घर के पास स्थित कुम्हार मोहल्ले के एक युवक ने बातचीत के दौरान कहा कि जिनका कोई नहीं है, उनके पज्जन चाचा हैं। सरकारी रसोई के बारे में पूछे जाने पर लोगों ने बताया कि उन्हें इस बारे में जानकारी तक नहीं है। बता दें कि मध्य प्रदेश सरकार दिन दयाल रसोई चलाती है, जिसमें 5 रुपए में भरपेट भोजन के दावे किए जाते हैं। हालांकि, धरातल पर इसके बारे में अधिकांश लोगों को जानकारी तक नहीं होती। 

बता दें कि कांग्रेस विधायक आलोक चतुर्वेदी अक्सर अपनी दरियादिली की वजह से सुर्खियों में रहते हैं। स्थानीय लोग बताते हैं कि करीब 10 साल पहले इलाके में भयंकर जलसंकट उत्पन्न हो गया था। इस दौरान उन्होंने घर-घर पानी पहुंचाने के लिए स्वयं के खर्चे से करीब 100 से ज्यादा टैंकरों को क्षेत्र में उतारा था। हर वर्ष गर्मियों में इन टैंकरों से मुफ्त पानी सप्लाई होता है। इतना ही नहीं कोरोना काल में जब छत्तरपुर ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहा था तब उन्होंने खेलग्राम में ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर बैंक की स्थापना कर लोगों को सांसें प्रदान की थी।