26 से अनलॉक होंगे प्रदेश के स्कूल,11वीं-12वीं की लगेंगी कक्षाएं, वैक्सीनेशन करवाए टीचर लेंगे क्लास

मध्यप्रदेश में 26 जुलाई से स्कूल खोलने का फैसला, पहले चरण में 11वीं-12वीं की लगेंगी कक्षाएं, 50 प्रतिशत क्षमता के साथ अभिभावकों की परमीशन लेकर आएंगे बच्चे, जल्द होगा कॉलेजों के खुलने की तारीखों का ऐलान

Publish: Jul 14, 2021, 04:48 PM IST

26 से अनलॉक होंगे प्रदेश के स्कूल,11वीं-12वीं की लगेंगी कक्षाएं, वैक्सीनेशन करवाए टीचर लेंगे क्लास
Photo Courtesy: Scroll.in

भोपाल। लंबे वक्त से सूने पड़े स्कूलों में फिर से रौकन लौटने वाली है। सरकार ने 26 जुलाई से 11वीं और 12वीं कक्षाएं लगाने का फैसला किया है। स्कूल खोलने के बारे में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का कहना है कि वर्तमान में प्रदेश में कोविड 19 की स्थिति कंट्रोल में हैं। प्रदेश सरकार हर परिस्थिति पर नज़र रखे हुए हैं। वर्तमान में प्रदेशभर में केवल 20 के आसपास कोरोना संक्रमित मरीज मिल रहे हैं। वहीं एक्टिव केसों की संख्या 250 के आसपास है। वहीं कोरोना की संभावित तीसरी लहर से निपटने की तैयारी में सरकार जुटी हुई है। उन्होने कहा कि स्कूल कॉलेज बंद होने से छात्रों की पढ़ाई नहीं हो पा रही है। ऑनलाइन क्लास से ज्यादा कारगर रियल क्लास होती है। स्कूल बंद होने की वजह से बच्चे कुंठित हो रहे हैं और स्कूल संचालक भी परेशान हैं। इसलिए अब स्कूल कॉलेज खोलने की प्रक्रिया प्रारंभ की जा रही है।

 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि पहले चरण में 26 जुलाई से स्कूल खुलेंगे। जिसमें 50% क्षमता के साथ 11वीं और 12वीं की क्लास लगेगी। छात्रों के दो बैच बनाए जाएंगे। जो कि एक-एक दिन छोड़कर स्कूल आएंगे। सप्ताह में एक दिन एक बैच आएगा और अगले दिन दूसरे बैच को बुलाया जाएगा। वहीं कॉलेजों में भी आधी क्षमता के साथ चरणबद्ध तरीके से खोले जाएंगे।

और पढ़ें: मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल के 10वीं क्लास का रिजल्ट जारी, सभी साढ़े 10 लाख छात्र पास

स्कूल आने के लिए छात्रों को अपने परिजनों से लिखित परमीशन लेकर आना होगा। वहीं स्कूल में उन्हीं शिक्षकों को क्लास लेने दिया जाएगा जिनका वैक्सीनेशन हो चुका है। सरकारी स्कूलों के ज्यादातर शिक्षकों का टीकाकरण हो चुका है। वहीं जिनको वैक्सीन नहीं लगी है, उन शिक्षकों को जल्द से जल्द वैक्सीन लगवाने के लिए कहा जा रहा है। 10वीं बोर्ड परीक्षा का रिजल्ट घोषित करते हुए स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा कि जो शिक्षक वैक्सीन नहीं लगवाएंगे उन्हें क्लास लेने की परमीशन नहीं होगी। स्कूल शिक्षा मंत्री ने कहा कि कोरोना की स्थिति को देखते हुए कक्षा दसवीं और उनसे छोटी क्लासेस के लिए भी स्कूल खोलने की तैयारी की जा रही है।