MP बीजेपी में फिर सामने आई अंतर्कलह, वाजपेई की प्रतिमा अनावरण के दौरान मंच पर ही भिड़े दो दिग्गज

डिंडौरी में पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेई की प्रतिमा अनावरण कार्यक्रम के दौरान हंगामा, पूर्व मंत्री ओमप्रकाश धुर्वे ने पूर्व एमएलए चैन सिंह को कहा गद्दार

Updated: Aug 27, 2022, 01:18 PM IST

MP बीजेपी में फिर सामने आई अंतर्कलह, वाजपेई की प्रतिमा अनावरण के दौरान मंच पर ही भिड़े दो दिग्गज

डिंडौरी। मध्य प्रदेश के डिंडौरी में जिला पंचायत चुनाव के बाद भाजपा में सिर फुटौवल जारी है। शुक्रवार को यहां एक कार्यक्रम के दौरान भाजपा नेताओं के बीच जमकर बहसबाजी हुई। पूर्व मंत्री ओमप्रकाश धुर्वे ने पूर्व विधायक चैन सिंह भवेदी पर गद्दारी का आरोप लगाया। वहीं भवेदी ने पलटवार करते हुए कहा कि आप फालतू बातें मत करें।

दरअसल, शुक्रवार को आदिवासी बाहुल्य डिंडौरी में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई की प्रतिमा का अनावरण किया जा रहा था। मुख्य अतिथि के रूप में केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते को बुलाया गया था। प्रतिमा के अनावरण के बाद फोटो सेशन के दौरान बीजेपी के कद्दावर नेता व पूर्व मंत्री ओमप्रकाश धुर्वे शहपुरा के पूर्व विधायक चैन सिंह भवेदी के साथ बहस करने लगे।

यह भी पढ़ें: नौकरी मांगने वाले नहीं, नौकरी देने वाले बनो, सीएम शिवराज ने बेरोजगार युवाओं को दी स्टार्टअप की सलाह

ओमप्रकाश धुर्वे ने चैन सिंह भवेदी पर गद्दारी का आरोप लगाया। इसपर चैन सिंह ने कहा कि आप यहां फालतू बातें मत करें। यह आपका कार्यक्रम नहीं, पार्टी का कार्यक्रम है। इस दौरान केंद्रीय मंत्री कुलस्ते बीच बचाव करते दिखे। ओमप्रकाश धुर्वे ने कार्यक्रम के दौरान कार्यकर्ताओं से कहा कि गद्दारों को नहीं आने देना है। स्थानीय पत्रकारों ने जब मंत्री कुलस्ते से विवाद का कारण पूछा तो उन्होंने टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।

दरअसल, ओमप्रकाश धुर्वे की पत्नी ज्योति धुर्वे इस बार जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव हार गईं। धुर्वे ने आरोप लगाया कि पार्टी के लोगों ने ही गद्दारी की जिस वजह से उनकी हार हुई। चुनाव पूर्व ज्योति धुर्वे द्वारा बीजेपी जिलाध्यक्ष को धमकाने का भी मामला सामने आया था।

चुनाव में हार के बाद ओमप्रकाश धुर्वे पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के पास भी पहुंचे थे। उन्होंने केंद्रीय मंत्री कुलस्ते, जिलाध्यक्ष नरेंद्र राजपूत समेत 13 पदाधिकारियों के खिलाफ भितरघात की शिकायत की थी। इसपर केंद्रीय मंत्री कुलस्ते ने कहा था कि वे अपने कर्मों से हारे हैं।