नौकरी मांगने वाले नहीं, नौकरी देने वाले बनो, सीएम शिवराज ने बेरोजगार युवाओं को दी स्टार्टअप की सलाह

मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में प्रदेशव्यापी रोजगार दिवस का आयोजन, 75 हजार हितग्राहियों को स्टार्टअप्स के लिए 466 करोड़ रुपए देने का दावा, सीएम शिवराज पहुंचे इंदौर

Updated: Aug 27, 2022, 12:02 PM IST

नौकरी मांगने वाले नहीं, नौकरी देने वाले बनो, सीएम शिवराज ने बेरोजगार युवाओं को दी स्टार्टअप की सलाह
Photo Courtesy: The New Indian Express

इंदौर। देशभर में बेरोजगारी अपने चरम पर है। एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश के बेरोजगार युवाओं को स्टार्टअप की सलाह दी है। उन्होंने रोजगार मांगने वाले युवाओं को कहा कि, 'आप रोजगार के साथ स्वरोजगार की ओर कदम बढ़ाओ। नौकरी मांगने वाले नहीं, देने वाले बनो।'

दरअसल, मध्य प्रदेश के इंदौर में शनिवार को प्रदेशव्यापी स्वरोजगार दिवस का आयोजन किया जा रहा है। राज्य सरकार का दावा है कि इस दौरान प्रदेश के 75 हजार हितग्राहियों को स्टार्टअप के लिए 466 करोड़ की मदद दी जाएगी। सीएम चौहान इस दौरान प्रतीक के रूप में चयनित हितग्राहियों को लाभ के प्रमाण-पत्र का वितरण करेंगे। साथ ही वे इंदौर के अलावा प्रदेश के चार जिलों अनूपपुर, शाजापुर, बड़वानी एवं छतरपुर के हितग्राहियों से वर्चुअली संवाद भी करेंगे।

कार्यक्रम से पहले सीएम चौहान ने कहा कि, 'मध्यप्रदेश में सरकारी एवं गैर सरकारी क्षेत्रों में रोजगार के अधिक से अधिक अवसर सृजित किए जा रहे हैं। यह शासन की उच्च प्राथमिकता का विषय है। सभी रिक्त शासकीय पदों पर नियुक्तियां प्रारंभ की जा रही हैं। प्रतिमाह रोजगार दिवस के माध्यम से युवाओं को उनके खुद के रोजगार शुरू करने के लिए विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत ऋण व आर्थिक सहायता दी जा रही है।'

उन्होंने आगे कहा कि, 'स्टार्टअप, क्लस्टर्स, औद्योगिक पार्कों के निर्माण से बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसर सृजित हो रहे हैं। आज इंदौर में वृहद प्रदेशव्यापी रोजगार दिवस का आयोजन किया जा रहा है। मेरे बच्चों, रोजगार के साथ-साथ स्वरोजगार की ओर कदम बढ़ाओ। नौकरी मांगने वाले नहीं, देने वाले बनो।'