नरोत्तम मिश्रा ने कमल नाथ से मांगा था मौतों का प्रमाण, जीतू पटवारी ने खुद सीएम के सामने इंदौर में तीस हजार मौतों का आंकड़ा किया पेश

कमल नाथ ने लगाया था शिवराज सरकार पर मौतों के आंकड़े छुपाने का आरोप, गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने आरोपों को बताया था बेबुनियाद, जीतू पटवारी ने मुख्यमंत्री शिवराज के सामने रखा इंदौर का आंकड़ा, बताया, अकेले इंदौर में कोरोना से तीस हजार लोग

Updated: May 23, 2021, 09:47 AM IST

नरोत्तम मिश्रा ने कमल नाथ से मांगा था मौतों का प्रमाण, जीतू पटवारी ने खुद सीएम के सामने इंदौर में तीस हजार मौतों का आंकड़ा किया पेश
Photo Courtesy: Hindustan

इंदौर। मध्यप्रदेश में कोरोना से हो रही मौतों का आंकड़ा छुपाने के मामले में शिवराज सरकार एक बार फिर बैकफुट पर आ गई है। प्रदेश में हुई एक लाख से अधिक लोगों की मौतों के कमल नाथ के दावे को सिद्ध करने के लिए पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने खुद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के सामने मौतों का आंकड़ा पेश कर दिया। जिसके अनुसार अकेले इंदौर शहर में कोरोना के कारण कम से कम तीस हज़ार लोगों की मौत हुई है। 

जीतू पटवारी ने शुक्रवार को यह आंकड़ा खुद सूबे के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के समक्ष पेश किया। जीतू पटवारी ने मुख्यमंत्री को बताया कि अकेले इंदौर शहर और उसके आसपास के इलाकों में कोरोना के कारण तीस हजार लोगों की मौत हुई है। जीतू पटवारी ने मुख्यमंत्री से कहा कि दूसरी तरफ सरकारी आंकड़े मौतों के आंकड़ों को छुपाने का काम कर रहा है। पूर्व मंत्री ने शिवराज से कहा कि प्रशासन के मुताबिक पिछले एक महीने में कोरोना से 1350 लोगों की मौत होने का आंकड़ा पेश कर रही है। लेकिन इंदौर के को श्मशान घाट, राउ के श्मशान घाट तथा कब्रिस्तान का आंकड़ा लगभग तीस हजार का है। 

यह भी पढ़ें : गुना में पुलिस ने मास्क ठीक से न लगाने वाले डेढ़ साल के बच्चे का चालान, रसीद में लिखी पिता की उम्र

दरअसल यह सारा घटनाक्रम शुक्रवार को पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ के बयान के बाद शुरू हुआ। जिसमें पीसीसी चीफ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए यह दावा किया कि प्रदेश में कोरोना से एक लाख से अधिक लोगों की मौत हुई है। लेकिन शिवराज सरकार इसे छुपा रही है। कमल नाथ ने कहा कि उन्हें विभिन्न जिलों से जो सूचनाएं मिल रही हैं, उनके मुताबिक प्रदेश में भारी संख्या में लोग कोरोना के कारण मर रहे हैं। लेकिन प्रदेश की शिवराज सरकार अपनी नाकामियों पर पर्दा डालने के लिए मौतों का आंकड़ा छुपाने का यह हथकंडा अपनाया है। 

यह भी पढ़ें : पूर्व सीएम कमलनाथ ने लगाए कई आरोप, कहा- मौतों के आंकड़े छुपा रही शिवराज सरकार, मार्च-अप्रैल में 1 लाख 2 हजार मौतें

कमल नाथ के बयान ने मध्यप्रदेश की सियासत में हलचल पैदा कर दी। इसके बाद गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने अपनी सरकार का बचाव करते हुए कमल नाथ के दावे को खारिज कर दिया। नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कमल नाथ ऐसे बयान देकर प्रदेश को बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं। नरोत्तम मिश्रा ने कमल नाथ पर पलटवार करते हुए कमल नाथ को प्रमाण देने के लिए कहा। इसके बाद सीएम के इंदौर दौरे पर कांग्रेस नेता जीतू पटवारी ने खुद मुख्यमंत्री को ही इंदौर में हुई मौतों का आंकड़ा पेश कर दिया। जिसके बाद शिवराज सरकार इस मामले में एक बार फिर बैकफुट पर आ गई है।