वेश्यावृति के लिए ग्राहक भी दोषी, ग्राहक की सहभागिता के बिना यह संभव नहीं: ग्वालियर हाईकोर्ट

होटल में मिली लड़कियां अपनी मर्जी से वेश्यावृत्ति नहीं करने आई होंगी। उन्हें मजबूर किया गया होगा: ग्वालियर में सेक्स रैकेट के मामले में हाई कोर्ट की अहम टिप्पणी

Updated: Nov 20, 2022, 02:57 PM IST

वेश्यावृति के लिए ग्राहक भी दोषी, ग्राहक की सहभागिता के बिना यह संभव नहीं: ग्वालियर हाईकोर्ट

ग्वालियर। ग्वालियर में सेक्स रैकेट के मामले में हाई कोर्ट ने एक अहम टिप्पणी दी है। उच्च न्यायालय का कहना है कि ग्राहक की सहभागिता के बिना वेश्यावृत्ति संभव नहीं है। न्यायालय ने यह टिप्पणी एक महीने पहले शहर के पड़ाव इलाका स्थित होटल मयूर से पकड़े गए सेक्स रैकेट के संबंध में दी है।

दरअसल, सेक्स रैकेट में युवतियों के साथ पकड़े गए एक युवक की जमानत याचिका पर यह सुनवाई हो रही थी। इस दौरान न्यायालय ने वेश्यावृत्ति में सहभागिता का हवाला देते हुए कोर्ट ने याचिकाकर्ता की जमानत याचिका को खारिज कर दिया। कोर्ट का कहना है कि होटल में मिली लड़कियां अपनी मर्जी से वेश्यावृत्ति नहीं करने आई होंगी। उन्हें मजबूर किया गया होगा।

ग्वालियर में देह व्यापार के आरोप में पड़ाव स्थित होटल मयूर से पकड़े गए नीलेश राठौर को हाई कोर्ट ने राहत देने से इनकार कर दिया है। 18 अक्टूबर 2022 से जेल में बंद नीलेश ने पहली बार हाई कोर्ट में जमानत याचिका दायर की, जिस पर सुनवाई हुई। याचिका को खारिज करते हुए हाई कोर्ट ने कहा ग्राहक की सहभागिता के बिना वेश्यावृत्ति नहीं हो सकती।

यह भी पढ़ें: भारत जोड़ो यात्रा में शामिल हुए लेजेंडरी अभिनेता अमोल पालेकर, कांग्रेस बोली- देश की आवाज बुलंद करने के लिए शुक्रिया

दरअसल, पड़ाव स्थित होटल में कार्रवाई करते हुए पुलिस ने याचिकाकर्ता सहित कई लोगों को 18 अक्टूबर को गिरफ्तार किया था। याचिकाकर्ता की ओर से बताया गया कि उसने होटल में कमरा बुक किया था। पुलिस का आरोप है कि वह कमरा नंबर 202 में लड़की के साथ आपत्तिजनक स्थिति में मिला था। 

कहा गया कि आरोपी के साथ लड़की आपत्तिजनक स्थिति में मिली थी, जिसे महिला आरक्षकों की मदद से कपड़े पहनने की अनुमति प्रदान की गई थी। होटल रिकार्ड से भी स्पष्ट नहीं हो रहा कि याचिकाकर्ता ने चेक इन किया है। सभी तथ्यों पर गौर करने के बाद कोर्ट ने जमानत याचिका खारिज कर दिया।

बता दें कि शहर के पड़ाव थाना से कुछ 100 मीटर की दूरी पर स्थित होटल मयूर में कुछ दिन से युवतियों आना-जाना हो रहा था यह सूचना पुलिस को 18 अक्टूबर 2022 को मिली थी। आशंका थी कि यहां देह व्यापार के लिए यह लड़कियों को बुलाया जाता है। सीएसपी विजय भदौरिया के नेतृत्व में पड़ाव पुलिस ने होटल के आसपास निगरानी बढ़ाई फिर होटल मयूर पर छापामार कार्रवाई की थी। यहां एक रूम से 6 लड़कियां मिली थीं, जिनकी उम्र 21 से 26 साल के बीच की थी।