Digvijaya Singh: चौकीदार जी अब तो राफेल की कीमत बता दें

Rafale India: राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने कहा कि हम उत्तर माँगते हैं तो मोदी जी की ट्रोल आर्मी हमें बताते हैं राष्ट्रद्रोही

Updated: Jul 30, 2020 04:18 PM IST

Digvijaya Singh: चौकीदार जी अब तो राफेल की कीमत बता दें

भोपाल। आज जब राफेल विमान की पहली खेप भारत पहुँच रही है तब राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कहा है कि अब तो राफेल विमानों की कीमत बता दें। वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा है कि पूर्वर्ती कांग्रेस सरकार ने एक राफेल की कीमत 746 करोड़ रुपए तय की थी। बीजेपी सरकार ने राफेल विमानों की कीमत कितनी तय की है, यह सवाल संसद और संसद के बाहर पूछने पर भी प्रधानमंत्री मोदी ने नहीं बताया है। विमानों की कीमत बताने से चौकीदार की चोरी उजागर हो जाएगी। 

राफेल विमान को लेकर फ़्रांस से हुए समझौते और विमान का निर्माण कार्य हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड से छीन लेने के लिए कांग्रेस लगातार केंद्र सरकार पर सवाल उठाते रही है। कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह ने राफेल विमान समझौते पर मोदी सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा है कि पूर्वर्ती यूपीए सरकार ने 126 राफेल विमानों की आपूर्ति हेतु समझौता किया था। दिग्विजय सिंह ने कहा है कि राफेल खरीदने का फैसला कांग्रेस ने 2012 में लिया था। जिसमें 16 राफेल विमानों के निर्माण को छोड़कर बाकी भारत सरकार के अन्तर्गत आने वाली एचएएल कंपनी को निर्माण करना था। जो कि भारत में आत्मनिर्भर होने का प्रमाण था।

अपने एक अन्य ट्वीट में वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा है कि ' मोदी सरकार आने के बाद फ़्रांस के साथ मोदी जी ने बिना रक्षा व वित्त मंत्रालय व कैबिनेट कमेटी की मंज़ूरी के नया समझौता कर लिया और HAL का हक़ मार कर निजी कम्पनी को देने का समझौता कर लिया। राष्ट्रीय सुरक्षा को अनदेखी कर 126 राफ़ेल ख़रीदने के बजाय केवल 36 ख़रीदने का निर्णय ले लिया। यदि हम इन प्रश्नों का उत्तर माँगते हैं तो मोदी जी की ट्रोल आर्मी और उनके “कठपुतली” मीडिया एंकर हमें राष्ट्रद्रोही बताते हैं! क्या प्रजातंत्रीय व्यवस्था में विपक्ष को प्रश्न पूछने का अधिकार नहीं है?