सागर में किसानों ने मांगा खराब फसल का मुआवजा तो सरकारी अफ़सर ने दिया धक्का

सागर जिले के जैसीनगर में किसानों ने पाला लगी गेहूं की फसल का सर्वे करवाने की मांग की, जवाब में नायब तहसीलदार पर किसानों को धक्का देकर अपशब्द कहने का आरोप

Updated: Feb 08, 2021, 07:23 PM IST

सागर में किसानों ने मांगा खराब फसल का मुआवजा तो सरकारी अफ़सर ने दिया धक्का
Photo Courtesy: Bhaskar

सागर। किसानों को खराब फसल का मुआवजा मांगने पर मिला अपमान। ये शर्मनाक घटना सागर जिले के जैसीनगर तहसील में सामने आई है। आरोप है कि सोमवार को किसानों ने खराब फसल का सर्वे कराने की मांग को लेकर तहसील कार्यालय पर प्रदर्शन किया। इस दौरान तहसील कार्यालय पर बड़ी संख्या में जमा हुए किसानों ने नारेबाज़ी भी की।

किसानों का कहना है कि पाला लगने से उनकी गेहूं की फसल बरबाद हो गई है। जल्द से जल्द उनकी फसल का सर्वे करवाकर उन्हें मुआवजा दिया जाए। इसी दौरान तहसील कार्यालय में गेहूं की कुछ बालियां गिर गईं। आरोप है कि इसी बात पर नायब तहसीलदार एलपी अहिरवार को इतना गुस्सा आया कि उन्होंने किसानों पर चिल्लाना शुरू कर दिया और डांट-फटकार के बाद धक्का देकर बाहर भगाने की कोशिश की।

 नायब तहसीलदार ने कहा कि चुपचाप ज्ञापन देकर किसान यहां से लौट जाएं, वहां गंदगी ना करें। इतना ही नहीं अफसर ने आव देखा ना ताव किसानों को भलाबुरा कहना शुरु कर दिया। उन्होंने किसानों की मांग को नौटंकी करार दिया। गौरतलब है कि यह इलाका सुरखी विधानसभा क्षेत्र में आता है, जो राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत का क्षेत्र है।