सिंगरौली में गुरहर पहाड़ पर सोने की खदान मिली, 1 टन पत्थर से निकाला जाएगा 1.03 ग्राम सोना

गुरहर पहाड़ की खदान नीलामी की तैयारी में सरकार, 149.30 हेक्टेयर में क्षेत्र में फैली है खदान, पथरीली भूमि वाले इस क्षेत्र में पिछले दो साल से की जा रही थी सोने की खोज।

Updated: Nov 02, 2022, 09:17 AM IST

सिंगरौली में गुरहर पहाड़ पर सोने की खदान मिली, 1 टन पत्थर से निकाला जाएगा 1.03 ग्राम सोना

सिंगरौली। मध्य प्रदेश की पहचान अब तक हीरे की खदान के रूप में होती रही है। लेकिन जल्द ही अब मध्य प्रदेश की धरती से सोना निकालने की भी तैयारी है। दरअसल, सिंगरौली में गुरहर पहाड़ पर सोने की खदान मिली है। जियोलाजिकल सर्वे आफ इंडिया (जीएसआइ) की रिपोर्ट के बाद खनिज विभाग ने खदान को नीलाम करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

सिंगरौली के बुरहर पहाड़ पर मिली सोने की खदान में उत्खनन करने पर एक टन पत्थर से 1.03 ग्राम सोना निकाला जाएगा। ये खदान कुल 149.30 हेक्टेयर में फैली हुई है। पथरीली भूमि वाले इस क्षेत्र में पिछले दो साल से सोने की खोज की जा रही थी। इसमें भारत सरकार के भू-विज्ञानियों की मदद ली गई थी।

यह भी पढ़ें: भारत जोड़ो यात्रा की व्यवस्था समझने एमपी कांग्रेस के नेता पहुंचे हैदराबाद, 20 नवंबर को एमपी में प्रवेश करेगी यात्रा

बता दें कि मध्य प्रदेश में साल 2002 से ही सोने की खोज जारी है। जियोलाजिकल सर्वे ऑफ इंडिया ने सोने की संभावनाओं का सर्वे करते हुए सिंगरौली में सोने की खदानों की पुष्टि की थी। इसमें से सिंगरौली के गुुरहर पहाड़ पर सोने की खोज हुई है। सिंगरौली के अलावा कटनी, बालाघाट, सिवनी, बैतूल, जबलपुर, शहडोल, छिंदवाड़ा और उमरिया जिलों में भी खोज जारी है।

सोने की इस खदान के अलावा मुख्य खनिज की 12 अन्य खदानों की नीलामी की भी तैयारी है। इनमें चूना पत्थर और मैगनीज, रॉक फॉस्फेट, लोह अयस्क और ग्रेफाइट की खदान नीलाम होगी। प्रदेश के तीन जिलों झाबुआ के खतंबा में रॉक फास्फेट, ग्वालियर के पनिहार में लोह अयस्क और आलीराजपुर के नेतारा में ग्रेफाइट की खदान की नीलामी की जाएगी।