भारत जोड़ो यात्रा की व्यवस्था समझने एमपी कांग्रेस के नेता पहुंचे हैदराबाद, 20 नवंबर को एमपी में प्रवेश करेगी यात्रा

हैदराबाद में एमपी कांग्रेस के नेताओं की अहम बैठक, भारत जोड़ो यात्रा आयोजन समिति के अध्यक्ष दिग्विजय सिंह से मिले अरुण यादव, डॉ गोविंद सिंह और पीसी शर्मा।

Updated: Nov 02, 2022, 02:06 AM IST

भारत जोड़ो यात्रा की व्यवस्था समझने एमपी कांग्रेस के नेता पहुंचे हैदराबाद, 20 नवंबर को एमपी में प्रवेश करेगी यात्रा

हैदराबाद/इंदौर। मध्य प्रदेश में भारत जोड़ो यात्रा की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी है। 20 नवंबर को बुरहानपुर के रास्ते प्रवेश हो रही इस यात्रा का रूट प्लान भी तय हो गया है। यात्रा को लेकर हैदराबाद में आज मध्य प्रदेश कांग्रेस नेताओं की अहम बैठक हुई। बैठक में भारत जोड़ो यात्रा आयोजन समिति के अध्यक्ष दिग्विजय सिंह के अलावा मध्य प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष डॉ गोविंद सिंह, पूर्व पीसीसी चीफ अरुण यादव, प्रदेश में यात्रा के समन्वयक पीसी शर्मा समेत कई विधायक मौजूद थे।

मंगलवार सुबह ही प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्य इंदौर एयरपोर्ट से हैदराबाद के लिए रवाना हुए। यहां दिग्विजय सिंह के साथ बैठक के दौरान उन्होंने यात्रा की व्यवस्था किस तरह से करनी इसे लेकर विस्तृत चर्चा की। कांग्रेस नेताओं ने बताया कि वे दो दिन तेलंगाना में रुकेंगे और देखेंगे की यहां पार्टी किस तरह से यात्रा का मैनेजमेंट कर रही है। 

कांग्रेस नेताओं ने बताया कि वे ये देखने और समझने आए हैं कि राहुल गांधी कितने बजे निकलते और कितने किलोमीटर चलते हैं। जहां-जहां पर वे जाते हैं, वहां पर लोकल नेताओं की क्या तैयारी रहती है। जहां पर ठहरते हैं, वहां किनसे मिलते हैं। इन सारी चीजों को देखने के बाद पीसीसी का दल और अन्य नेता मध्य प्रदेश में पदयात्रा मार्ग बुरहानपुर से इंदौर और उज्जैन होते हुए सुसनेर तक सारी व्यवस्था करेगा। बता दें कि तेलंगाना में यात्रा को भरपूर समर्थन मिल रहा है और एक समय पर लगभग एक लाख लोग राहुल गांधी के साथ मार्च कर रहे हैं।

यात्रा के लिए निर्धारित रूट के मुताबिक मध्य प्रदेश को पैदल पार करने में कांग्रेस पदयात्रियों को 16 दिन लगेंगे। यात्रा पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र के जलगांव जामोद से मध्य प्रदेश में प्रवेश करेगी। मध्य प्रदेश में पहला पड़ाव बुरहानपुर जिले का बोदारली होगा। यहां से खंडवा, सनावद, बड़वाह, इंदौर, उज्जैन होते हुए आगर मालवा जिले की सुसनेर विधानसभा से राजस्थान के कोटा जिले में जाएगी। यात्रा मप्र के विधानसभा चुनाव के लिहाज से अहम मानी जा रही है।

मध्य प्रदेश में पदयात्री 382 किलोमीटर की यात्रा तय करेंगे। राज्य के 7 लोकसभा और 18 विधानसभा क्षेत्रों से यह गुजरेगी। मध्य प्रदेश में राहुल गांधी छात्रों और युवाओं से मिलेंगे। युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष विक्रांत भूरिया ने बताया कि, '3 नवंबर को राजधानी भोपाल में बैठक के बाद नेताओं की भूमिका तय की जाएगी। यूथ कांग्रेस का दायित्व यह है कि प्रदेश के सभी जिलों से हजारों की संख्या में युवा इस यात्रा से जुड़ें। रोजगार और स्कॉलरशिप के लिए संघर्ष कर रहे युवाओं और छात्रों से भी राहुल गांधी मुलाकात करेंगे।