ग्वालियर महापौर का सिंधिया समर्थकों पर पलटवार, मैं आज के युग की महिला हूं, दबूंगी नहीं

सिंधिया समर्थक पूर्व विधायक मुन्नालाल गोयल ने ग्वालियर महापौर को 15 दिन का अल्टीमेटम दिया कि सड़कें ठीक नहीं हुई तो धरना दूंगा, शोभा सिकरवार बोलीं- मैं भी धरना दूंगी, सरकार आपकी है

Updated: Sep 29, 2022, 09:38 AM IST

ग्वालियर महापौर का सिंधिया समर्थकों पर पलटवार, मैं आज के युग की महिला हूं, दबूंगी नहीं

ग्वालियर। मध्य प्रदेश के ग्वालियर में महापौर पद हाथ से जाने के बाद अब बीजेपी खासकर सिंधिया समर्थकों ने कांग्रेस महापौर को घेरने की कवायद शुरू कर दी है। सिंधिया समर्थक पूर्व विधायक मुन्नालाल गोयल ने नगर निगम महापौर शोभा सिकरवार को 15 दिन में शहर की 31 सड़कों को दुरुस्त करने का अल्टीमेटम दिया है। हालांकि, ग्वालियर महापौर ने भी करारा पलटवार करते हुए कहा कि मैं भी धरने पर बैठूंगी।

बीज विकास निगम के अध्यक्ष मुन्नालाल गोयल ने 31 सड़कों की लिस्ट का उल्लेख करते हुए महापौर से कहा है कि 15 दिन के अंदर इन सड़कों को दुरुस्त कर दिया जाए नहीं तो नगर निगम मुख्यालय पर आकर वे धरने पर बैठ जाएंगे। जवाब में महापौर डॉ. शोभा सिकरवार ने कहा है कि, 'एक महिला को यह दबाने का प्रयास कर रहे हैं। मैं आज के युग की महिला हूं दबूंगी नहीं। यह धरने पर बैठेंगे तो मैं भी धरना पर बैठूंगी। केन्द्र से लेकर राज्य तक भाजपा की सरकार है। नगर निगम परिषद भी इनकी है। मुझे सिर्फ दो महीने हुए हैं। यह दो महीने में सड़क खराब हुई हैं।'

यह भी पढ़ें: सबसे पहले RSS पर प्रतिबंध लगे, यह PFI से भी बुरा संगठन है: संघ के खिलाफ विपक्ष ने खोला मोर्चा

कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता आरपी सिंह ने सिंधिया समर्थक मुन्ना को बादाम खाने की नसीहत दी है। उनका कहना है कि उनके समय में ही यह सड़कें बनी और खराब हुईं। भूल गए होंगे तो बादाम खाया करें। कांग्रेस के जिला अध्यक्ष देवेंद्र शर्मा ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए कहा है कि मुन्नालाल गोयल को अगर ग्वालियर शहर की सड़कों की बदहाली का जवाब चाहिए तो उन्हें सिंधिया के महल जय विलास पैलेस में जाकर धरना देना चाहिए या फिर उन्हें केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के बंगले पर धरना देना चाहिए।

बता दें कि ग्वालियर नगर निगम में पिछले 57 साल से महापौर की कुर्सी पर बीजेपी का ही कब्जा रहा है लेकिन इस बार के नगरीय निकाय चुनाव में बीजेपी को करारी मात देते हुए कांग्रेस की शोभा सिकरवार महापौर पद के लिए चुन ली गईं। महापौर की सीट हाथ से जाने के बाद अब बीजेपी ने कांग्रेस को घेरना शुरू कर दिया है। इसकी शुरुआत सिंधिया समर्थक एवं बीज विकास निगम के अध्यक्ष मुन्नालाल गोयल ने कर दी है।

ग्वालियर पूर्व विधानसभा से विधायक रह चुके मुन्ना लाल गोयल सिंधिया के कट्टर समर्थक हैं। सिंधिया के साथ ही वे कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए। ग्वालियर पूर्व विधानसभा से टिकट भी लिया लेकिन उपचुनाव में बुरी तरह हार गए। हालांकि सिंधिया की सिफारिश पर उन्हें बीज विकास निगम का अध्यक्ष बना दिया गया है। अब उन्होंने ग्वालियर नगर निगम की कांग्रेस पार्टी की महापौर शोभा सिकरवार को घेरने की कवायद शुरू कर दी है। इतने साल से ग्वालियर शहर की जर्जर सड़को की हालत की याद नहीं आई लेकिन कांग्रेस की महापौर बनते ही मुन्नालाल गोयल को अचानक से शहर की सड़कों की चिंता सताने लगी है।