प्रदेश में लगी बारिश की झड़ी, तवा नदी का जलस्तर बढ़ने से सीजन में पहली बार सारनी सतपुड़ा डैम के 7 गेट खुले

मध्यप्रदेश में अब तक 267.5 मिमी बारिश दर्ज, 67 प्रतिशत ज्यादा वर्षा के साथ सिंगरौली सबसे ज्यादा वर्षा वाला जिला, 23 जुलाई से 28 जुलाई तक प्रदेश को और भिगोएंगे बदरा

Updated: Jul 22, 2021, 06:25 PM IST

प्रदेश में लगी बारिश की झड़ी, तवा नदी का जलस्तर बढ़ने से सीजन में पहली बार सारनी सतपुड़ा डैम के 7 गेट खुले
Photo Courtesy: news 18

भोपाल। करीब 3 सप्ताह के लंबे इंतजार के बाद मध्यप्रदेश के कई इलाकों में झमाझम बारिश का दौर एक बार फिर शुरू हो गया है। जिसकी वजह से प्रदेश की प्रमुख नदियों का जल स्तर बढ़ गया है। बैतूल और उसके आस पास के इलाकों में भारी बारिश की वजह से सारनी स्थित सतपुड़ा डैम के सात गेट खोले गए हैं। यह पहला मौका है जब किसी बांध के गेट खुले हैं। सतपुडा डैम के गेट 2-2 फुट खुले हैं। 11 हजार 725 क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। सारणी में बीते 24 घंटों में 29 मिमी पानी बरसा है। डैम से पानी छोड़ने की वजह से निचले इलाके जलमग्न हो गए हैं। जिलों को बाढ़ की स्थिति से निपटने के लिए हर संभव तैयारी रखने के निर्देश दिए गए हैं।

वहीं अन्य डैम का जल स्तर बढ़ा है, इनमें होशंगाबाद के तवा डैम 1126.80 फीट, जबलपुर के बरगी 413.65 मीटर और रायसेन के बारना डैम का जलस्तर 343.64 मीटर हो गया है। होशंगाबाद में नर्मदा नदी का जलस्तर 934.62 फीट तक पहुंच गया है।   

दरअसल बंगाल की खाड़ी और अरब सागर में बने सिस्टम अब अपना असर दिखा रहे हैं। जिसकी वजह से प्रदेश के भोपाल, ग्वालियर, होशंगाबाद, रीवा, सागर, जबलपुर, इंदौर संभाग के कई जिलों में भारी बारिश की स्थिति बनी है। विदिशा जिले के सिंरोज में भारी बारिश की वजह से बाढ़ की स्थिति बन गई। इलाके में जगह–जगह पानी भरा नजर आया।

 मध्यप्रदेश में अब तक 267.5 मिमी बारिश हुई है, जबकि 22 जुलाई तक बारिश का औसत 334.2 मिमी है। वर्तमान में बारिश 20 प्रतिशत माइनस में चल रहा है, लेकिन पहले की अपेक्षा स्थिति सुधरी है। सिंगरौली में औसत से 67 फीसदी बारिश हो चुकी है। जबकि औसत से 56 फीसदी कम बारिश मुरैना में हुई है, यहां अब तक प्रदेश की सबसे कम बारिश दर्ज की गई है। प्रदेश के 33 से ज्यादा जिलों में अल्प वर्षा की स्थिति में इस नए सिस्टम से सुधार की उम्मीद की जा रही है।

प्रदेश में बीते 24 घंटों में सबसे ज्यादा बारिश नौगांव जिले में हुई है, नौगांव में 96.0 मिमी, नरसिंहपुर 29.0 मिमी, सारणी 20 मिमी, मलंजखंड 21.6 मिमी, उमरिया 16.2 मिमी, टीकमगढ़ 10.0 मिमी, बैतूल 7.6 मिमी, सिवनी 17.6 मिमी, दमोह 16.0 मिमी, पचमढ़ी 12.0 मिमी, छिंदवाड़ा 5.8 मिमी, मंडला 28.0 मिमी, खजुराहो 12.4 मिमी, सीधी 11.4 मिमी, भोपाल 29.5 मिमी , इंदौर 29.6 मिमी ,जबलपुर 29.5 मिमी, ग्वालियर 33.9 मिमी वर्षामिमी, सागर 5.8 मिमी, रायसेन 4.6 मिमी, रतलाम 4.0 मिमी, इंदौर 3.9 मिमी, सतना 3.8 मिमी, धार 3.4 मिमी, रीवा 2.4 मिमी,गुना 1.2 मिमी वर्षा दर्ज की गई है।

वहीं आगामी 24 घंटे के लिए मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है। भोपाल समेत होशंगाबाद, ग्वालियर-चंबल संभाग के जिलों में हल्की से मध्यम वर्षा, सागर, रीवा, जबलपुर, शहडोल में गरज चमक के साथ बारिश और कुछ स्थानों में बिजली गिरने की आशंका जताई गई है। उज्जैन-इंदौर संभाग के जिलों में गरज चमक के साथ बारिश की संभावना है।