प्याज़ घोटाले को उजागर करने वाली अधिकारी का राज्य सरकार ने किया ट्रांसफर, PM मोदी कर चुके हैं सम्मानित

उद्यानिकी विभाग में हुए कथित प्याज़ घोटाले की जांच कर रही थीं कल्पना श्रीवास्तव, उद्यानिकी विभाग में प्रमुख सचिव के पद पर थीं तैनात, विभाग के अधिकारी मनोज अग्रवाल पर की थी कार्रवाई, छुट्टी के दिन राज्य सरकार ने कर दिया कल्पना श्रीवास्तव का ट्रांसफर

Publish: Dec 21, 2021, 11:26 AM IST

प्याज़ घोटाले को उजागर करने वाली अधिकारी का राज्य सरकार ने किया ट्रांसफर, PM मोदी कर चुके हैं सम्मानित
Photo Courtesy: Social media

भोपाल। मध्य प्रदेश में दो करोड़ के कथित प्याज़ घोटाले को उजागर करने वाली अधिकारी कल्पना श्रीवास्तव के ट्रांसफर से शिवराज सरकार की काफी किरकिरी हो रही है। कल्पना श्रीवास्तव के ट्रांसफर पर विपक्ष के हमलावर रुख के साथ साथ अब खुद उद्यानिकी विभाग के कर्मचारी संघ ने सीएम शिवराज को पत्र लिखा है। और सीएम से कल्पना श्रीवास्तव को दोबारा उद्यानिकी विभाग में पदस्थ करने की मांग की है। 

बीते शनिवार को उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग में प्रमुख सचिव के पद पर तैनात कल्पना श्रीवास्तव का ट्रांसफर कर दिया गया। कल्पना की जगह पर पशुपालन विभाग के अपर मुख्य सचिव जेएन कंसौटिया को उद्यानिकी विभाग में तैनात कर दिया गया। कल्पना श्रीवास्तव का ट्रांसफर ऐसे वक्त में किया गया, जब वे राष्ट्रीय बागवानी मिशन के तहत खरीदी गई प्याज में हुए घोटाले की जांच कर रही थीं। जिसके बाद से ही शिवराज सरकार विपक्ष के निशाने पर आ गई है। 

रिपोर्ट्स के मुताबिक कल्पना श्रीवास्तव ने प्याज खरीदी में हुए घोटाले की जांच शुरू की थी। राष्ट्रीय बागवानी मिशन के तहत खरीदी गई 90 क्विंटल प्याज़ में उचित मानदंडों का पालन न किए जाने की बात सामने आने के बाद कल्पना श्रीवास्तव ने मामले को अपने संज्ञान में लेकर जांच शुरू की थी। 

यह भी पढ़ें : गोडसे समर्थकों को फांसी देने की वरुण गांधी ने की वकालत, हिंदू महासभा बोली हम गोडसे के नारे लगाएंगे

घोटाले की भनक लगने के बाद अक्टूबर महीने में कल्पना श्रीवास्तव ने प्याज खरीदी के भुगतान पर रोक लगा दी थी।रिपोर्ट्स के मुताबिक ईओडब्ल्यू ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कर अपनी जांच भी शुरू कर दी थी। कल्पना श्रीवास्तव ने इस मामले में संदिग्ध भूमिका पर जाने पर आयुक्त मनोज अग्रवाल के खिलाफ जांच भी शुरू कर दी की थी। लेकिन मनोज अग्रवाल पर जांच शुरू करने के तुरंत बाद ही उनका ट्रांसफर कर दिया गया।  

यह भी पढ़ें : सिंधिया समर्थकों के साथ गाने पर थिरके सीएम, ये दोस्ती हम नहीं तोड़ेंगे

कल्पना श्रीवास्तव के इस ट्रांसफर ने शिवराज सरकार की मंशा पर कई तरह के सवाल खड़े कर दिए हैं। खुद उद्यानिकी विभाग के एमपी राज्य कर्मचारी संघ ने कल्पना श्रीवास्तव के ट्रांसफर का विरोध करते हुए सीएम से उनका ट्रांसफर रोकने की मांग की है। कल्पना श्रीवास्तव की छवि भी एक ईमानदार अधिकारी की रही है। उन्हें खुद प्रधानमंत्री मोदी सम्मानित भी कर चुके हैं। 

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने भी कल्पना श्रीवास्तव के ट्रांसफर पर सवाल खड़ा करते हुए शिवराज सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि मामू गेंग का राज है।मामू गेंग खाएगा, और पकड़ा गया तो पकड़ने वाले की छुट्टी कर देगा।