MP के एक और डैम में लीकेज, अब खेड़ी डैम में आई दरारें, बांध फूटा तो 10 हजार लोग होंगे प्रभावित

कारम बांध के बाद अब धार के ही खेड़ी डैम से रिसाव की खबर, लापरवाही छिपाने के लिए प्रशासन ने मिट्टी और मुरम डलवाया, 2016-17 में 150 हेक्टेयर में हुआ था निर्माण

Updated: Aug 18, 2022, 09:16 AM IST

MP के एक और डैम में लीकेज, अब खेड़ी डैम में आई दरारें, बांध फूटा तो 10 हजार लोग होंगे प्रभावित

धार। मध्य प्रदेश के धार जिले में कारम डैम लीक का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ की एक और डैम से रिसाव की खबर सामने आई है। अब धार के ही खेड़ी डैम में रिसाव शुरू हो गया है। ग्रामीणों को आशंका है कि यह डैम कभी भी फूट सकता है। यदि डैम फूटता है तो 8 गांव पूरी तरह से डूब जाएंगे और करीब 10 हजार की आबादी प्रभावित होगी।

खेड़ी डैम के निर्माण की शुरुआत 2016-17 में हुई लेकिन निर्माण कार्य आजतक पूरा नहीं हुआ। यह धार के ही तिरला ब्लॉक अंतर्गत कुआं पंचायत में स्थित है। ग्रामीणों का कहना है कि डैम के कुछ हिस्से में बड़ी-बड़ी दरारें हो चुकी हैं। इससे डैम फूटने का खतरा मंडरा रहा है। हालांकि, लापरवाही पर परदा डालने के लिए जल संसाधन विभाग के अधिकारी सक्रिय हो गए हैं। डैम के वॉल पर मिट्टी और मुरम डलवाए गए हैं, ताकि दरार को ढंका जा सके।

यह भी पढ़ें: कारम बांध निर्माता कंपनी में CM के OSD का शेयर, सिंधिया से सौदा करते वक्त इसी कंपनी ने दिए थे फंड: CPIM

स्थानीय समाजसेवी विजय चोपड़ा ने बताया कि डैम को लेकर कई बार सीएम से लेकर कई कलेक्टरों को शिकायत कर चुके हैं। लेकिन इन शिकायतों का निराकरण आज तक नहीं हो पाया है। एक ओर जहां बांध से पानी का रिसाव हो रहा है, वहीं दूसरी ओर डूब प्रभावित क्षेत्र में पुलिया का निर्माण नहीं होने के कारण डैम का पानी पुलिया पर आ गया है। इन दिनों पुलिया पूरी तरह से डूब चुकी है। इसमें सैकड़ों स्कूली बच्चों को पानी के बीच से गुजरना पड़ रहा है। 

रिपोर्ट्स के मुताबिक करीब 10 गांव का रास्ता भी इसी पुलिया से गुजरता है। ऐसे में हजारों ग्रामीणों की जान जोखिम में है। कई बार ज्यादा पानी होने से पुलिया का ठीक से पता नहीं चल पाता है। इससे किसी भी दिन बड़ा हादसा हो सकता है।