आत्मनिर्भरता पर जंगल चिंतन के बाद बोले सीएम शिवराज, मध्य प्रदेश में लव जिहाद नहीं चलने देंगे

कांग्रेस नेता नरेंद्र सलूजा ने कहा, लव जिहाद बिल को लेकर मुख्यमंत्री और गृह मंत्री के बीच श्रेय जिहाद जारी है

Updated: Nov 26, 2020, 02:25 AM IST

आत्मनिर्भरता पर जंगल चिंतन के बाद बोले सीएम शिवराज, मध्य प्रदेश में लव जिहाद नहीं चलने देंगे

उमरिया। जंगल में टेबल-कुर्सी लगाकर मध्य प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाने पर चिंतन करने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक बार फिर से लव जिहाद का राग अलापना शुरू कर दिया। बांधवगढ़ के जंगल में टेबल-कुर्सी लगवाकर मध्य प्रदेश की आत्म-निर्भरता पर चिंतन करने और तस्वीरें खिंचवाने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान उमरिया में आदिवासियों के बीच एक कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे। लेकिन वहां उनके भाषण में प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाने की फिक्र से ज़्यादा लव जिहाद का सियासी एजेंडा हावी रहा। उन्होंने अपने भाषण में एलान किया कि वे प्रदेश में लव जिहाद नहीं चलने देंगे और ऐसा करने वालों के विरुद्ध कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी। 

यह भी पढ़ें: हवाओं का रुख मोड़ने बांधवगढ़ पहुंचे सीएम शिवराज, बीच जंगल में लगाई कुर्सी-टेबल

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि लोभ, लालच, भय, प्रलोभन में कोई अगर धर्मान्तरण करने का प्रयास करेगा तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। उसे सजा भी होगी, जुर्माना भी होगा। उमरिया के कार्यक्रम में मौजूद लोगों के बीच उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने लव जिहाद के खिलाफ कानून भी तैयार कर लिया है। बहुत जल्द इस कानून को अमलीजामा पहनाया जाएगा। 

यह भी पढ़ें : Ashok Gehlot: बीजेपी ने देश को बांटने के लिए गढ़ा लव जिहाद का शब्द

ज्ञात हो कि मंगलवार को ही यूपी सरकार की कैबिनेट ने कथित तौर पर लव जिहाद के खिलाफ अध्यादेश पारित किया है। अब मध्य प्रदेश में भी ऐसा ही कोई कानून लाए जाने की घोषणा एक बार फिर हो गई है। हालांकि इसी साल फरवरी में मोदी सरकार का गृह मंत्रालय संसद में लिखकर बता चुका है कि देश में लव जिहाद जैसा कोई अपराध कहीं नहीं हो रहा है। लेकिन बीजेपी शासित तमाम राज्यों की सरकारों ने पिछले कुछ दिनों से इसे सबसे बड़ा मुद्दा बना रखा है। इस बीच इलाहाबाद हाईकोर्ट हाल ही में साफ कर चुका है कि जीवनसाथी चुनाव हर नागरिक का मौलिक अधिकार है, फिर चाहे वह जीवनसाथी किसी भी जाति-धर्म का क्यों न हो। कोर्ट का कहना है कि नागरिकों के इस मौलिक अधिकार में कटौती करने का अधिकार सरकारों को नहीं है।

यह भी पढ़ें : Allahabad HC: जीवनसाथी चुनना हर व्यक्ति का हक़, सरकार को दखल देने का अधिकार नहीं

लव जिहाद बिल को लेकर मुख्यमंत्री और गृह मंत्री में श्रेय जिहाद : सलूजा 

उधर, कांग्रेस नेता नरेंद्र सलूजा ने मध्य प्रदेश में लव जिहाद के मसले पर शिवराज सिंह चौहान और नरोत्तम मिश्रा में मची होड़ पर चुटकी ली है। सलूजा ने कहा है कि शाम को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इस बिल को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक करने वाले थे जबकि गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने मुख्यमंत्री से पहले खुद ही अधिकारियों के साथ बैठक बुला ली। सलूजा ने कहा कि मुख्यमंत्री और गृह मंत्री के बीच लव जिहाद बिल को लेकर श्रेय जिहाद जारी है।