Digvijaya Singh : एजेंट पकड़े अब CM आदिवासियों को पैसा दिलवाएं

CM शिवराज सिंह चौहान के क्षेत्र में आदिवासियों के साथ धोखाधड़ी, कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह की पहल पर सक्रिय हुई पुलिस

Publish: Jun-28, 2020, 06:52 PM IST

Digvijaya Singh :  एजेंट पकड़े अब CM आदिवासियों को पैसा दिलवाएं

मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के क्षेत्र बुधनी के आदिवासियों के साथ धोखाधड़ी कर भागी चिटफंड कंपनी साईं प्रसाद ग्रुप ऑफ कंपनी लिमिटेड के दो एजेंट को गिरफ्तार किया गया है। इस मामले को कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता दिग्विजय सिंह ने मजबूती से उठाया था। इस गिरफ्तारी पर पुलिस को धन्‍यवाद देते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा है कि अब राज्‍य सरकार की जिम्‍मेदारी है कि वह आदिवासी परिवारों के 4.5 करोड़ रुपए ब्याज के साथ वापस करवाए। सरकार सीहोर में कंपनी की 100 एकड़ जमीन या धोखाधड़ी करने वाले मालिक की सम्पत्ति बेच कर गरीब आदिवासी का पैसा वापस करवाएँ।

पूर्व मुख्‍यमंत्री दिग्विजय सिंह ने बुधनी प्रवास के दौरान मिली शिकायत के बाद इस मुद्दे को उठाया था। उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिख कर कहा था कि दोषियों को नहीं पकड़ा गया तो पीडि़तों के साथ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह स्‍वयं मुख्‍यमंत्री निवास पर धरना देंगे। दिग्विजय सिंह के इस मुद्दे को उठाने के बाद सीहोर की गोपालपुर थाना पुलिस ने दो एजेंटों को गिरफ्तार किया है।

Click  CM शिवराज सिंह के क्षेत्र में चिटफंड कंपनी ने गरीबों को लूटा

छह माह पहले आमलापानी निवासी दयाराम पुत्र गमर सिंह बारेला ने गोपालपुर थाना पहुंचकर रिपोर्ट दर्ज करवाई थी कि सांई प्रसाद ग्रुप ऑफ कम्पनीज लिमिटेड के संचालक और उसके एजेंट अमरसिंह मीणा, धर्मेंद्र खाती और करणसिंह ने रुपए दोगुना करने का झांसा देकर उनसे मोटी रकम जमा करवाई थी। तब से आरोपी फरार थे। अब पुलिस ने अलग-अलग स्थानों पर दबिश दे कर आरोपी अमरसिंह मीणा और धर्मेंद्र खाती को गिरफ्तार किया है।

पूर्व मुख्‍यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा है पुलिस देर से ही सही मगर दुरूस्‍त आई है। हमारे युवा नेता अर्जुन आर्य ने इस पूरे प्रकरण की लड़ाई लड़ी है। वे इसके लिए जेल भी गए। अर्जुन आर्य को बधाई देते हुए सिंह ने कहा कि मुझे जानकारी मिली है कि इस कम्पनी की लगभग 100 एकड़ जमीन सीहोर में है। अब राज्य सरकार की ज़िम्मेदारी है कि वी आदिवासी परिवारों के साढ़े चार करोड़ रुपए मय ब्याज के वापस करवाए। इसके लिए कंपनी की 100 एकड़ जमीन, धोखाधड़ी करने वाले मालिक से या जो एजेंट गिरफ्तार हुए उनकी सम्पत्ति जप्त की जाए और उसे बेच कर पैसा जुटाया जाए। लेकिन मुझे उम्मीद नहीं है कि शिवराज का राजस्व प्रशासन ऐसा करेगा। देखते हैं।

सिंह ने कहा  है कि चिटफण्ड कंपनी के डायरेक्टर्स तक पुलिस अभी तक नही पहुंच पाई है। कांग्रेस का संघर्ष तब तक जारी रहेगा जब तक सभी दोषी गिरफ्तार नही होते और पीड़ित किसानों को उनके पैसे वापस नही मिल जाते।